close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसा: अबतक 146 लोगों की मौत, बचाव अभियान खत्म

कानपुर देहात जिले के पुखरायां में कल हुए इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसे में मृतक संख्या बढ़कर 146 हो गई है। रविवार तड़के करीब तीन बजे हुए इस हादसे में रेलगाड़ी के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए थे। अब तक 146 लोगों की मौत हो चुकी है और बड़ी संख्या में लोग घायल हैं। मृतकों में से 110 लोगों की पहचान की जा चुकी है और 97 शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं।

इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसा: अबतक 146 लोगों की मौत, बचाव अभियान खत्म

पुखरायां (उत्तर प्रदेश): कानपुर देहात जिले के पुखरायां में कल हुए इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसे में मृतक संख्या बढ़कर 146 हो गई है। रविवार तड़के करीब तीन बजे हुए इस हादसे में रेलगाड़ी के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए थे। अब तक 146 लोगों की मौत हो चुकी है और बड़ी संख्या में लोग घायल हैं। मृतकों में से 110 लोगों की पहचान की जा चुकी है और 97 शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं।

कानपुर के आईजी जकी अहमद ने बताया कि रेलगाड़ी का जो एक डिब्बा बुरी तरह क्षतिग्रस्त है उसमें कुछ मानव अंश नजर आ रहे हैं। इस डिब्बे में कोई भी जीवित नहीं बचा है और इन अंशों को बाहर निकालने के लिए डिब्बे को काटना पड़ेगा। बचाव अभियान खत्म हो चुका है और डिब्बों को पटरी से हटा लिया गया है। हालांकि रेल यातायात पटरियों की मरम्मत के बाद ही प्रारंभ हो पाएगा। फिलहाल रेलवे के इंजीनियर मरम्मत के काम में जुटे हैं।

इंदौर से पटना (राजेंद्र नगर टर्मिनल) जा रही 19321-अप एक्सप्रेस रविवार तड़के 3:09 बजे कानपुर-झांसी रेल रूट के पुखरावां और मलासा स्टेशन के बीच दलेल नगर गांव के दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। रेल हादसे में घायलों का हालचाल लेने हैलट अस्पताल पहुंचे रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि पुखरायां हादसे की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं।

इंदौर-पटना एक्सप्रेस के पहियों से आ रही थी 'असामान्य आवाज’, तो इसलिए हुआ हादसा!

यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए, जबकि मोदी ने दो-दो लाख रुपए सहायता राशि देने की घोषणा की है। रेल मंत्री ने अपनी ओर से मृतकों के परिजनों को मिलने वाली मुआवजे की राशि को दो लाख रुपए से बढ़ाकर 3.5 लाख रुपए कर दिया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपए और सामान्य चोटिल लोगों को 25-25 हजार रुपए देने की घोषणा की है।

करीब 108 किलोमीटर गति से दौड़ रही इंदौर-पटना एक्सप्रेस के पांच कोच हादसे के बाद एक दूसरे पर चढ़ गए तथा पांच पटरी से उतर गए। बी-3, बीईएक्स-वन तथा एस वन कोच के परखचे उड़ जाने के कारण सबसे ज्यादा मौतों इन्हीं कोचों में हुई। तीनों कोच को गैस कटर से काटकर घायलों और मृतकों को निकाला गया। रेलवे ने हादसे के लिए हेल्पलाइन नंबर शुरू किए हैं, जो इस प्रकार हैं- इंदौर 07411072, उज्जैन 07342560906, रतलाम 074121072, उरई 051621072, झांसी 05101072, पोखरायां 05113270239 ।

(एजेंसी इनपुट के साथ)