पत्थरबाजों की जगह अरुंधति राय को आर्मी जीप से बांध दो: परेश रावल

अभिनेता और सांसद परेश रावल ने ट्वीटर के जरिए मशहूर लेखर और राजनीतिक एक्टिविस्ट अरुंधति राय पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘पत्थरबाजों की जगह अरुंधति राय को सेना की जीप के सामने बांधा जाना चाहिए.’

पत्थरबाजों की जगह अरुंधति राय को आर्मी जीप से बांध दो: परेश रावल
अभिनेता और सांसद परेश रावल ने ट्वीटर के जरिए मशहूर लेखर और राजनीतिक एक्टिविस्ट अरुंधति राय पर निशाना साधा है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अभिनेता और सांसद परेश रावल ने ट्वीटर के जरिए मशहूर लेखर और राजनीतिक एक्टिविस्ट अरुंधति राय पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘पत्थरबाजों की जगह अरुंधति राय को सेना की जीप के सामने बांधा जाना चाहिए.’

पिछले महीने भारतीय सेना की जीप के सामने बंधे हुए एक युवक वीडियो वायरल हुआ था

अभिनेता परेश रावल का बयान ऐसे समय में सामने आया है जब पिछले महीने भारतीय सेना की जीप के सामने बंधे हुए एक युवक वीडियो वायरल हुआ था. मामला सेंट्रल कश्मीर के बडगाम जिले के एक गांव था जिसमें सेना ने पत्थरबाजों को ऐसा कर स्पष्ट चेतावनी दी थी.  जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने एक ट्वीट के जरिए ये वीडियो शेयर किया था. ट्वीट में अब्दुल्ला ने कहा कि मामले की जल्द से जांच कराए जाने की मांग की थी. हालांकि सेना के उस अफसर को इस मामले में क्लीन चिट मिल चुकी है. 

और पढे़ं: 'सेना की जीप से नौजवान को बांध दिया तो चिंताजनक, सेना पर पत्थरबाजी की तो कोई सवाल नहीं?'

अरुंधति राय ने मैन बुकर पुरस्कार जीता था

 साल 2014 में हुए आम चुनाव में अभिनेता परेश रावल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तरफ से चुनाव लड़ते हुए पूर्वी अहमदाबाद की संसदीय सीट से चुनाव जीते थे. दूसरी तरफ भाजपा जम्मू-कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी से गठबंधन कर जम्मू-कश्मीर में सरकार चला रही है. साल 1997 में द गॉड ऑफ स्मॉल थिंग नोवल लिखने वाली गृहिणी अरुंधति राय ने मैन बुकर पुरस्कार जीता था. जिसके बाद से अरुंधति राय बहुत मुखर राजनीतिक एक्टिस्ट के रूप में मशूहर हुई. बाद में उन्होंने सक्रिय रूप से मानव अधिकारी से जुड़े मुद्दे देश-विदेश में उठाए. लेखिका अरुंधति राय मानवाधिकार के मुद्दे पर लिखती रही हैं और कश्मीरी अलगाववादियों को उन्होंने समर्थन भी किया था. गॉड ऑफ स्मॉल थिंग्स अरुंधति की चर्चित किताब है. 

और पढ़ें: कश्मीर : युवक को जीप से बांधने वाले आर्मी अफसर को मिली क्लीन चिट

परेश रावल अपनी एक्टिंग के लिए नेशनल अवार्ड भी जीत चुके हैं

पद्मश्री परेश रावल अपनी एक्टिंग के लिए नेशनल अवार्ड भी जीत चुके हैं. ट्विटर पर उनके 2 लाख से कुछ अधिक फॉलोअर्स हैं. 4600 से अधिक लोगों ने उनके ट्वीट को पसंद किया है. लेकिन कई लोग उनके इस ट्वीट पर कड़ी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. इस ट्वीट को अबतक 4,532 लोग लाइक कर चुके हैं और 2,165 लोगों ने रिट्वीट कर चुके हैं.

ट्वीटर यूजर्स ने भी दी अपनी प्रतिक्रिया

इस मसले को लेकर ट्वीटर यूजर्स भी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. अभिनेता परेश रावल के इस ट्वीट के बाद ट्वीटर यूजर्स ने उनपर भीड़ को भड़काने का आरोप लगाया है. ट्वीटर यूजर राकेश शर्मा लिखते हैं, ‘एक सांसद सदस्य उग्रवादी भीड़ को उकसा रहा है. एक थियेटर कलाकार और फिल्म अभिनेता एक लेख के खिलाफ हिंसा को प्रोत्साहित कर रहा है.’ एसआई हबीब लिखते हैं, ‘ये हमारे लॉमेकर हैं और मेरे पसंदीदा एक्टर भी. सांसद सदस्य भीड़ को भड़का रहा है.’प्रियंका बोरपुजारी ने लिखा है कि परेश रावल को अपने शब्दों में इतने हिंसक देखकर उन्हें झटका लगा है. वहीं, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने लिखा है कि क्यों नहीं उस शख्स के साथ ऐसा ही किया जाए जिसने बीजेपी और पीडीपी का गठबंधन कराया है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.