क्या राम सिर्फ हिन्दुओं के भगवान हैं, वह तो पूरी दुनिया के भगवान हैं: फारूक अब्दुल्ला

अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘आज हम धार्मिक आधार पर हिंदुओं और मुसलमानों के तौर पर बंटे हुए हैं.''

क्या राम सिर्फ हिन्दुओं के भगवान हैं, वह तो पूरी दुनिया के भगवान हैं: फारूक अब्दुल्ला
फारूक अब्‍दुल्‍ला ने इस बात पर बल दिया कि सभी धर्म के लोगों को देश में सम्मान के साथ जीने का समान अधिकार है.(फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: दक्षिणपंथ पर हमला करते हुए नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने बुधवार को पूछा कि क्या भगवान राम केवल हिन्दुओं के भगवान हैं और इस बात पर बल दिया कि सभी धर्म के लोगों को देश में सम्मान के साथ जीने का समान अधिकार है. अब्दुल्ला ने आप द्वारा आयोजित विपक्ष की महारैली में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को आगामी लोकसभा चुनाव में शिकस्त दी जानी चाहिए क्योंकि वे लोकतंत्र और संवैधानिक मूल्यों के लिए ‘खतरा’ हैं.

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘जब तक हमारे अपने दिल साफ नहीं होते हम उन्हें आसानी से नहीं हटा सकते. अगर मुल्क को बचाना चाहते है तो हमें पहले कुर्बानी देनी की जरूरत है... और ऐसा देश के लिए करो न कि कुर्सी के लिए.’’ अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘आज हम धार्मिक आधार पर हिंदुओं और मुसलमानों के तौर पर बंटे हुए हैं. मैं हिन्दुओं से पूछना चाहता हूं कि क्या राम सिर्फ आपके राम हैं? यह पवित्र ग्रंथों में लिखा है कि राम पूरी दुनिया के भगवान हैं. वह सब के भगवान हैं. हमें अपनी लड़ाई भूलने की जरूरत है.’’

उन्होंने अफसोस जताया कि मुस्लिम समुदाय के लोगों को बताया जा रहा है कि क्या नहीं करना है या कहां नहीं जाना है और पूछा कि “क्या यह देश उनके आकाओं का देश है.” उन्होंने कहा कि इस देश में सभी धर्म के लोगों को जीने का समान अधिकार है. हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई -हम सभी भाई हैं. और भारत हर भारतीय के लिए है.’’

आप की रैली में शामिल हुए विपक्ष के दिग्गज
इससे पहले दिल्ली के जंतर-मंतर पर हुई आप की रैली में कई विपक्षी दल शामिल हुए. इस रैली को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, टीडीपी प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला, राकांपा के शरद पवार और माकपा के सीताराम येचुरी ने भी संबोधित किया. इस रैली को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, टीडीपी प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला, राकांपा के शरद पवार और माकपा के सीताराम येचुरी ने भी संबोधित किया.

रैली में ममता ने कहा, 'लोकतंत्र ‘नमोतंत्र’ में तब्दील हो गया है'
इस रैली में बोलते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि लोकतंत्र ‘नमोतंत्र’ में तब्दील हो गया है और देश में स्थिति आपातकाल से भी ज्यादा खराब है. साथ ही उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को सत्ता से बेदखल करने के लिए विपक्ष राष्ट्रीय स्तर पर एकजुट होकर लड़ेगा.  ममता बनर्जी ने कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से उनके घर पर पूछताछ करने के सीबीआई के असफल प्रयास को लेकर भी केंद्र पर हमला बोला और कहा कि उन्होंने किसी भी सरकार को ‘इतना नीचे गिरते’ नहीं देखा. 

शरद पवार के घर बैठक
उसके बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार के दिल्ली स्थित घर में बुधवार शाम विपक्षी नेताओं की बैठक हुई. बैठक के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि हम राष्ट्रीय स्तर मिलकर काम करेंगे. ममता बनर्जी ने कहा कि हमारा एक विपक्षी एजेंडा होगा और हम चुनाव पूर्व गठबंधन भी करेंगे. शरद पवार के घर हुई विपक्षी दलों की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, फारूक अब्दुल्ला, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शामिल हुईं. 

(इनपुट: भाषा)