नेतन्‍याहू बोले- जय हिंद! जय भारत! जय इजराइल! | PM मोदी बोले- दोनों देशों को इनोवेशन करीब ला रहा

पीएम मोदी और इजरायल के पीएम ने आई-क्रिएट सेंटर के नए कैंपस का उद्घाटन किया. यह सेंटर अहमदाबाद से करीब 50 किलोमीटर दूर साणंद में बना हुआ है. इसकी शुरुआत 2011 में हुई थी. 

नेतन्‍याहू बोले- जय हिंद! जय भारत! जय इजराइल! | PM मोदी बोले- दोनों देशों को इनोवेशन करीब ला रहा
इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्‍याहू और पीएम नरेंद्र मोदी और ने आई-क्रिएट सेंटर में एक कार्यक्रम को संबोधित भी किया.

अहमदाबाद : इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू भारत दौरे के अपने तीसरे दिन गुजरात के अहमदाबाद दौरे पर हैं. पीएम नेतन्‍याहू ने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ अहमदाबाद हवाई अड्डे से लेकर साबरमती आश्रम का तक 8 किलोमीटर तक रोड शो किया. रोड शो के बाद दोनों नेता करीब 12 बजे साबरमती आश्रम पहुंचे. यहां नेतन्‍याहू ने अपनी पत्‍नी सारा नेतन्‍याहू के साथ चरखा चलाया. इसके बाद उन्‍होंने पीएम मोदी के साथ आश्रम का दौरा किया. यहां नेतन्‍याहू ने पीएम मोदी के साथ पतंग उड़ाने का भी आनंद लिया. आश्रम में बेंजामिन नेतन्‍याहू ने अपनी पत्‍नी सारा नेतन्‍याहू के साथ महात्‍मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्‍प अर्पित कर अपनी श्रद्धांजलि दी. आखिर में उन्‍होंने आश्रम की विजिटर बुक में संदेश भी लिखा.

खुशी है कि नेतन्‍याहू ने गुजरात आने का निमंत्रण स्‍वीकार किया- पीएम मोदी
इसके बाद पीएम मोदी और इजरायल के पीएम ने आई-क्रिएट सेंटर के नए कैंपस का उद्घाटन किया. यह सेंटर अहमदाबाद से करीब 50 किलोमीटर दूर साणंद में बना हुआ है. इसकी शुरुआत 2011 में हुई थी. यह सेंटर नवउद्यमियों को प्रोत्‍साहन देता है, जिसके तहत उन्‍हें फंड सहित दूसरी सुविधाएं मुहैया कराई जाती हैं. इस दौरान यहां पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि मुझे खुशी है कि आज इजरायल के पीएम की उपस्थिति में इस संस्‍थान के नए कैंपस का लोकार्पण हो रहा है. मैं उनका आभारी हूं कि उन्‍होंने भारत-गुजरात आने का निमंत्रण स्‍वीकार किया. यहां साबरमती आश्रम में उन्‍होंने चरखा चलाया और पतंग भी उड़ाई. मैं मेरे मित्र नेतन्‍याहू के भारत आने का इंतजार कर रहा था.

पीएम मोदी ने आगे कि मैं हमेशा चाहता था कि आई क्रिएट का इजरायल से गहरा संबंध हो. इजरायल ने यह साबित किया कि देश का आकर नहीं, देशवासियों का संकल्‍प देश को आगे ले जाता है.

जय हिंद! जय भारत! जय इजराइल- नेतन्‍याहू
वहीं, बेंजामिन नेतन्‍याहू ने कहा, हाइफा की मुक्ति के दौरान जिन कई भारतीय सैनिकों ने अपने जीवन का बलिदान दिया, उनमें कई गुजराती थे. धन्‍यवाद गुजरात. उन्‍होंने आगे कहा कि जय हिंद! जय भारत! जय इजराइल! धन्‍यवाद प्रधानमंत्री मोदी, आप सभी का धन्‍यवाद.

8 किलोमीटर तक किया रोड शो
इससे पहलेे अहमदाबाद एयरपोर्ट पर पीएम नरेंद्र मोदी ने पीएम नेतन्‍याहू और उनकी पत्‍नी सारा नेतन्‍याहू का स्‍वागत किया. इसके बाद नेतन्‍याहू ने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ अहमदाबाद हवाई अड्डे से लेकर साबरमती आश्रम का तक 8 किलोमीटर तक रोड शो किया. इस रोड शो के दौरान 8 किलोमीटर तक सड़क के दोनों तरफ सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की छठा बिखरी रही, जिसमें न सिर्फ गुजरात बल्कि अलग-अलग राज्‍यों के सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों को पेश किया गया. इसे इजराइली पीएम और उनकी पत्‍नी सारा नेतन्‍याहू ने कार केे अंदर से देखा. सुरक्षा के लिहाज से रोड शो खुली जीप में नहीं किया गया, जबकि पहले कहा जा रहा था कि रोड शो खुली जीप में होगा. 

अहमदाबाद एयरपोर्ट पर पीएम मोदी ने किया नेतन्‍याहू का स्‍वागत
नेतन्‍याहू और उनकी पत्‍नी सारा नेतन्‍याहू के स्‍वागत के लिए पीएम नरेंद्र मोदी बुधवार सुबह करीब साढ़े दस बजे अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंच गए थे. अहमदाबाद में इस रोड शो के लिए प्रदेश के सीएम विजय रूपाणी और स्थानीय नगरपालिका द्वारा कई दिनों से तैयारियां की जा रही थी. उनके स्‍वागत के लिए एयरपोर्ट पर कई सांस्‍कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए और युवक-युवतियां पारंपरिक कपड़ों में गरबा करते दिखे. 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

भारतीय यहूदी नागरिक भी करेंगे स्वागत 
नेतन्याहू के दौरे के लिए अहमदाबाद में कई कार्यक्रम होने हैं. भारतीय यहूदी नागरिक भी दोनों नेताओं का स्वागत करेंगे. तय कार्यक्रम के मुताबिक साबरमती रिवरफ्रंट पर भी कुछ समय बिताएंगे जिसे नरेंद्र मोदी ने गुजरात में अपने शासनकाल के दौरान बनवाया था. इससे पहले 2014 में भारत की यात्रा पर आए चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और उनकी पत्नी को भी मोदी यहां लेेेेकर गए थे.

नेतन्याहू ने मोदी को बताया क्रांतिकारी नेता 
इससे पहले इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने पीएम मोदी ने के लिए कहा, 'आप क्रांतिकारी नेता है उनका विजय बहुत स्पष्ट है' भारत आना मेरे लिए ऐतिहासिक यात्रा है. हमारी सभ्यता दुनिया में सबसे पुरानी है. हमारी दोस्ती में अब कुछ नया हो रहा है. नेतन्याहू ने कहा कि यहूदियों को भारत ने गले लगाया है. खेती को बढ़ावा देने के लिए भारत के साथ काम कर रहे हैं. हम कृषि क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव चाहते है. बेंजामिन नेतन्याहू ने हाइफा में शहीद भारतीय जवानों की शहादत को सलाम किया. उन्होंने कहा कि हम भारत के साथ स्वच्छ पानी को लेकर भी काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह दोस्ती दोनों देशों के लिए फायदे लेकर आएगी. बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि हम लड़ते लेकिन हार नहीं मानते हैं.

नेतन्याहू के भारत दौरे की खास बातें

1. अहमदाबाद दौरे पर पीएम मोदी के साथ मिलकर नेतन्याहू एक उद्यमिता और प्रौद्योगिकी केंद्र राष्ट्र को समर्पित करेंगे. गुजरात सरकार के सार्वजनिक निजी भागीदारी वाले निकाय अंतरराष्ट्रीय उद्यमिता और प्रौद्योगिकी केंद्र (आईक्रिएट) का गठन उद्यमियों को आगे बढ़ाने के लिए किया गया है. यह उद्यमियों को कोष, जगह, संरक्षण और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में सक्षम है.

यह भी पढ़ें: भारत-इजरायल के बीच हुए 9 समझौते, PM नेतन्याहू बोले-पीएम मोदी आप क्रांतिकारी नेता हैं

2. इस दौरे पर गुजरात को तोहफा देते हुए दोनों देशों के प्रधानमंत्री 38 उद्यमशीलता परियोजनाओं को पुरस्कृत भी करेंगे. इनमें से 18 परियोजनाएं भारत और 20 इजरायल की परियोजनाएं शामिल हैं. इसके साथ ही नेतन्याहू आईक्रिएट प्लॉट भारत को समर्पित करेंगे. 40 एकड़ के आईक्रिएट प्लॉट का भूमि पूजन मोदी के 2012 में उस वक्त किया था जब वो गुजरात के सीएम थे. इस प्रोजेक्ट को मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में से माना जाता है.

3.दोनों देशों के शीर्ष नेताओं के रोड शो के लिए आठ किलोमीटर के रास्ते में सड़क किनारे तकरीबन 50 मंच तैयार किए गए हैं. विभिन्न राज्यों और जातीय समूहों की मंडलियां मेहमानों का स्वागत करने के लिए कई तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश करेंगी.

4. भारत की यात्रा पर गए नेतन्याहू, मोदी के लिए एक खास तोहफा लेकर आए हैं. नेतन्याहू समुद्री पानी को पीने लायक बनाने वाली प्रौद्योगिकी से लैस एक जीप पीएम मोदी को तोहफे के रूप में लाए हैं. 

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस मार्ग से है इजरायल का खास रिश्ता, नेतन्याहू को साथ लेकर पहुंचे PM मोदी

5. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इजरायल के उनके समकक्ष बेंजामिन नेतन्याहू ने 15 जनवरी को रक्षा और आतंकवाद से मुकाबले जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के लिए ‘व्यापक और सघन’ बातचीत की. मोदी-नेतन्याहू की बैठक के बाद जारी एक संयुक्त बयान में दोनों नेताओं ने सरकार से इतर तत्वों सहित आतंकवाद से शांति और स्थिरता को पैदा होने वाले गंभीर खतरे पर चर्चा की और दोहराया कि किसी भी वजह से आतंकवादी कृत्य को उचित नहीं ठहराया जा सकता.

6. इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का भारत दौरे पर भारत और इजरायल के बीच 9 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए. इनमें निवेश, रक्षा और अंतरिक्ष तकनीक को लेकर समझौता हुआ हैं. वहीं एविएशन सेक्टर और आर्युवेद-होम्योपैथ को लेकर भी समझौता हुआ है. इसके अलावा सोलर-थर्मल तकनीक को लेकर भी दोनों देशों के बीच समझौता हुआ है. इसके अलावा सोलर-थर्मल तकनीक को लेकर भी दोनों देशों के बीच समझौता हुआ है. भारत और इजरायल के बीच फिल्मों को लेकर भी समझौता हुआ है. 

7. प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का राष्ट्रपति भवन में 15 जनवरी को स्वागत जैतून की खास चाय से किया गया. इजरायल के प्रधानमंत्री राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मिलने गए थे. इस मौके पर नेतन्याहू को जैतून की चाय पेश की गई. इसमें इस्तेमाल जैतून का उत्पादन बीकानेर में राजस्थान ओलिव कल्टिवेशन लि. ने किया है. यह राजस्थान सरकार और इजरायली भागीदारों का एक संयुक्त उद्यम है. 

यह भी पढ़ेंः VIDEO, 15 साल बाद इजरायल के PM आए भारत, रिसीव करने पहुंचे पीएम मोदी ने लगाया गले

8. भारत यात्रा पर आए इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने मंगलवार को अपनी पत्नी सारा के साथ ताजमहल का दीदार किया. इससे पूर्व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया. प्रेम की निशानी ताजमहल में पहुंचते ही इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और उनकी पत्नी सारा का बेहद रोमांटिक अंदाज देखने को मिला. दोनों ने ताजमहल के सामने खड़े होकर अपने हाथों से दिल की आकृति बनाकर तस्वीरें खिंचवाई.

9. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज रविवार (14 जनवरी) को इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से मिलीं और दोनों देशों के बीच रणनीतिक भागीदारी को मजबूत करने के मकसद से भारत-इस्राइल संबंधों के विभिन्न आयामों पर चर्चा की.नेतन्याहू ने विदेश मंत्री के साथ बैठक के दौरान कहा, ‘‘हम एक ऐतिहासिक दौरे पर भारत आए हैं. इजरायल के लिए यह काफी महत्व रखता है कि एक बड़ी शक्ति (भारत) उसके साथ कई क्षेत्रों - अर्थव्यवस्था, व्यापार, सुरक्षा एवं कृषि - में करीबी संबंध विकसित करना चाहती है.’’

10. नेतन्याहू से पहले पीएम मोदी ने वर्ष 2016 में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ गुजरात में रोड शो किया था. मोदी शिंजो को भी साबरमती आश्रम में बापू के समर्ति चिन्ह दिखाने ले गए थे.