लोकसभा में उठा कृषि और किसानों की स्थिति का मुद्दा

लोकसभा में आज कांग्रेस समेत विभिन्न दलों के सदस्यों ने बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के कारण फसलों को नुकसान और कृषि की स्थिति का मुद्दा उठाया और सरकार ने इससे सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि वह इस पर चर्चा को तैयार है।

नई दिल्ली : लोकसभा में आज कांग्रेस समेत विभिन्न दलों के सदस्यों ने बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के कारण फसलों को नुकसान और कृषि की स्थिति का मुद्दा उठाया और सरकार ने इससे सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि वह इस पर चर्चा को तैयार है।

आज सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने पर अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने दीपेन्द्र हुड्डा, एंटो एंटनी और ज्योतिरादित्य सिंधिया के कार्य स्थगन प्रस्तावों को अस्वीकार करते हुए कहा कि विषय महत्वपूर्ण है लेकिन इसके लिए प्रश्नकाल स्थगित करने का नियम नहीं है। उन्होंने कहा कि देश में बेमौसम बारिश से फसलों को नुकसान हुआ है और किसान प्रभावित हुए हैं।

संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू ने कहा कि यह विषय महत्वपूर्ण है और सरकार इस पर आज चर्चा करने को तैयार है। सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकाजरुन खडगे ने कहा कि हम पहले ही 5.6 विधेयक पारित कर चुके हैं। किसानों और कृषि का विषय महत्वपूण है और इस पर चर्चा आज निर्धारित दो विधेयकों पर चर्चा शुरू करने से पहले करायी जाए। आज सदन में भंडागारण निगम संशोधन विधेयक 2015 और निरसन और संशोधन विधेयक पर चर्चा होनी है।