close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

10 मई को खुल रहे हैं बद्रीनाथ मंदिर के पट, आईटीबीपी ने पूरे किए सभी इंतजाम

चार धाम की यात्रा शुरू होने से पहले आईटीबीपी ने बद्रीनाथ धाम में सुरक्षा और सहूलियत से जुड़े सभी इंतजाम पूरे कर लिए हैं. श्रद्धालुओं को स्‍वच्‍छ वातावरण देने के लिए आईटीबीपी ने बद्रीनाथ मंदिर परिसर में द्वार खुलने से पहले स्वच्छता अभियान भी चलाया है.

10 मई को खुल रहे हैं बद्रीनाथ मंदिर के पट, आईटीबीपी ने पूरे किए सभी इंतजाम
बद्रीनाथ मंदिर की स्‍वच्‍छता के लिए आईटीबीपी के जवानों ने विशेष अभियान चलाया है.

नई दिल्‍ली: चार धाम की यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को स्‍वच्‍छ माहौल प्रदान करने के लिए भारतीय तिब्‍बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) ने एक विशेष अभियान की शुरूआत की है. अभियान के तहत आईटीबीपी के जवानों ने 10 हजार 8 सौ फीट ऊंचाई पर स्थित बद्रीनाथ धाम में स्‍वच्‍छता का कार्य पूरा किया है. आईटीबीपी की टीम बद्रीनाथ धाम के अतिरिक्‍त समीपवर्ती मंदिर परिसर, कुंड, पैदल मार्गों की सफाई के काम में भी जुटी हुई है. 

आईटीबीपी के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि उत्तराखंड में चार धाम यात्रा प्रारंभ हो चुकी है. 10 मई 2019 को श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए बद्रीनाथ मंदिर के खुल जाएंगे. बद्रीनाथ धाम में श्रद्धालुओं को स्‍वच्‍छ माहौल मिल सके, इस मकसद से भारतीय तिब्‍बत सीमा पुलिस की 60 सदस्‍यीय पर्वतारोहण दल ने मंदिर परिसर की सफाई का कार्य पूरा कर लिया है. आईटीबीपी के इस कार्य में औली स्कीइंग इंस्टिट्यूट के पर्वतारोही भी शामिल हैं. उन्‍होंने बताया कि पर्वतारोहियों के इस संयुक्‍त दल ने मंदिर परिसर और आसपास के इलाकों में व्यापक सफाई अभियान संचालित किया है. 

आईटीबीपी के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, बद्रीनाथ मंदिर के अलावा, जिन इलाकों में सफाई अभियान चलाया गया है, जिसमें तप्त कुंड, अलकनंदा नदी के तट, सीढ़ियां, पैदल मार्ग आदि शामिल हैं. उन्‍होंने बताया कि आईटीबीपी प्रत्येक वर्ष कपाट खुलने से पहले बद्रीनाथ धाम की साफ़ सफाई करती रही है. समुद्र तल से 10 हज़ार 8 सौ फीट की उंचाई पर स्थित बद्रीनाथ धाम में इस वर्ष अपेक्षाकृत ज्यादा बर्फ़बारी से संपर्क मार्ग 2 माह से भी ज्यादा समय तक बंद रहे थे. पिछले वर्ष 20 नवम्बर को मंदिर के कपाट बंद हुए थे. 

दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं के पहुंचने की संभावना
आईटीबीपी के प्रवक्‍ता विवेक कुमार पांडेय ने बताया कि गत वर्ष बद्रीनाथ मंदिर के कपाट खुलने के एक हफ्ते के भीतर करीब 1 लाख श्रद्धालुओं ने दर्शन किये थे. इस वर्ष अनुमान है कि मई महीने में ही श्रद्धालुओं का आंकड़ा 2 लाख से भी ज्यादा हो सकता है. उल्‍लेखनीय है कि वर्ष 2018 में लगभग 11 लाख श्रद्धालु मंदिर पहुंचे थे, जो आंकड़ा वर्ष 2019 में बढ़ सकता है. आईटीबीपी ने मुसाफिरों की सुरक्षा और सुविधा के लिहाज से लगभग सभी इंतजाम पूरे कर लिए हैं.