J&K: अपनों को आग में झोंक कश्‍मीरी आवाम को सुरक्षाबलों के खिलाफ भड़काने की साजिश, देखें VIDEO

अपने नेताओं को कानून के शिकंजे में फंसता देख बुरी तरह से झल्‍लाए हुए हैं अलगाववादी, मंगलवार को श्रीनगर के सौरा में हुई हिंसा के वीडियो हुआ अलगाववादी ताकतों की साजिश का खुलासा.

J&K: अपनों को आग में झोंक कश्‍मीरी आवाम को सुरक्षाबलों के खिलाफ भड़काने की साजिश, देखें VIDEO
सुरक्षाबलों को उकसाने का प्रयास कर रहे थे पत्‍थरबाज, नाकाम होने पर की आगजनी और हिंसा.

नई दिल्‍ली : दुख्‍तरान-ए-मिल्‍लत की प्रमुख आशिया अंद्राबी की गिरफ्तारी ने कश्‍मीर में सक्रिय अलगाववादी नेताओं को बुरी तरह से झल्‍ला दिया है. अलगाववादी नेताओं की झल्‍लाह जम्‍मू-कश्‍मीर में लगातार हो रहे हिंसक प्रदर्शनों में नजर आने लगी है. इसी झल्‍लाहट में अलगाववादियों ने जम्‍मू-कश्‍मीर में शांति बहाली की कोशिश कर रहे सुरक्षाबलों के खिलाफ साजिश रचना शुरू कर दी. साजिश के तहत अलगाववादी लगातार घाटी में बंद बुला रहे है, बंद के दौरान अलगाववादियों के गुर्गे स्‍थानीय नागरिकों के साथ हिंसा और आगजनी कर रहे हैं. हिंसा और आगजनी के दौरान अलगाववादियों के गुर्ग वीडियो तैयार करते हैं, जिसमें कहा जाता है कि देखिए किस तरह सुरक्षाबलों ने इन दुकानों में आग लगा दी है. बाद में इस वीडियो को पूरी घाटी में सोशल मीडिया के जरिए प्रसारित कर दिया जाता है. जिससे घाटी के लोगों के दिल में सुरक्षाबलों के लिए नफरत पैदा की जा सके. 

सौरा में हिंसा के वीडियो ने साजिस से हटाया पर्दा
मंगलवार को श्रीनगर के सौरा में इसी साजिश के तहत की गई हिंसा और आजगनी का एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो ने अलगाववादियों की साजिश का खुलासा करते हुए यह साफ कर दिया है कि घाटी में किस तरह सुरक्षाबलों के खिलाफ नफरत फैलाने की कोशिश की जा रही है. 

हमेशा से आतंकियों के हमदर्द रहे अलगाववादी इस नफरत के जरिए कश्‍मीरी आवाम को सुरक्षाबलों के खिलाफ खड़ा करना चा‍हती है. जिससे आतंकियों से होने वाली मुठभेड़ को रोकने के लिए ज्‍यादा से ज्‍यादा पत्‍थरबाजों की भीड़ को खड़ा किया जा सके. 

वीडियो से कश्‍मीरी आवाम को पता चलेगा सच
जम्‍मू कश्‍मीर में अमल बहाली की कोशिश में लगे सुरक्षाबलों के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, सौरा में हुई हिंसा के बाद सामने आए वीडियो में कश्‍मीर के आवाम के सामने सच रख दिया है. दरअसल, वीडियो में चारो तरफ रोड पर लगी रेहड़ी जलती हुई नजर आ रही हैं. 

वीडियो बनाने वाला शख्‍स कह रहा है कि देखिए किस तरह सुरक्षाबलों ने गरीब दुकानदारों की रेहडि़यों को जला दिया है. जबकि वीडियो में सिर्फ हिंसा फैलाने वाले लोग ही नजर आ रहे हैं, इस वीडियो में एक भी केंद्रीय सुरक्षाबल या जम्‍मू और कश्‍मीर पुलिस का एक भी जवान नजर नहीं आ रहा है. 

इस वीडियो से साफ हो गया है कि किस तरह ये लोग खुद दुकानों में आग लगाते हैं, फिर सुरक्षाबलों का नाम लेकर वीडियो तैयार करते हैं.

 

J&K पुलिस ने अपने बयान में साफ किया सच
कश्‍मीर पुलिस द्वारा एक बयान जारी किया गया है, जिसमें सौरा में हुई हिंसा का अक्षरश: सच सामने रखा गया है. अपने बयान में पुलिस ने बताया है कि 11 जुलाई को अलगाववादी ताकतों द्वारा बंद का ऐलान किया गया था. 

अलगाववादियों के इस बंद को दरकिनार कर कुछ फल विक्रेता मेटरनिटी हॉस्पिटल के पास रोजाना की तरह अपना व्‍यापार कर रहे थे. सड़क पर वाहनों की आवाजाही जारी थी. इसी दौरान सब्‍जी मंडी के करीब मौजूद कुछ अराजकतत्‍वों ने स्‍थानीय नागरिकों के वाहनों पर पथराव शुरू कर दिया.  

सुरक्षाबलों को उकसाने का प्रयास कर रहे थे पत्‍थरबाज
जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के अनुसार, मेटर्निटी हॉस्पिटल में मौजूद मरीज और उनके तीमारदारों की सुरक्षा और सहूलियत के लिए सुरक्षाबलों को तैनात किया गया था. जिससे अराजकतत्‍व अस्‍पताल के मरीजों को किसी तरह का नुकसान न पहुंचा सके. 

अराजकतत्‍व लगातार अस्‍पताल की तरफ जाने की कोशिश कर रहे थे, जिन्‍हें सुरक्षाबल बिना बल का इस्‍तेमाल किए हुए रोकने का प्रयास कर रहे थे. वहीं अरातकतत्‍व लगातार हिंसा कर सुरक्षाबलों को उकसाने का प्रयास कर रहे थे. अराजकतत्‍वों की तमाम कोशिश के बावजूद शाम तक स्थिति सामान्‍य रहीं. 

 

 

सुरक्षाबलों के हटते ही पत्‍थरबाजों ने शुरू की हिंसा
 जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के अनुसार, बुधवार शाम मौके से सुरक्षाबलों को वापस भेजने की प्रक्रिया जारी थी, इसी बीच अराजकतत्‍वों ने एक बार फिर सुरक्षाबलों को उकसाने शुरू कर दिया. इसी उकसावे को बढ़ावा देने के लिए फलों को फेंककर रेहडि़यों को सड़क के बीच में डाल दिया. 

अराजकतत्‍वों ने ट्री गार्ड और रोड डिवाइडर को बुरी तरह से क्षतिग्रस्‍त कर दिया. इसी बीच, कुछ अराजकतत्‍वों ने मौके पर मौजूद फलों की रेहडि़यो को आग के हवाले कर दिया. बाद में, इसी आगजनी का वीडियो बनाकर सुरक्षाबलों के खिलाफ नफरत फैलाने की कोशिश की. 

इन अलगाववादी नेताओं को एनआईए कर चुकी है गिरफ्तार
नेशनल सिक्‍योरिटी एजेंसी कश्‍मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले आधा दर्जन अलगाववादियों को गिरफ्तार कर चुकी है. गिरफ्तार हुए अलगाववादी नेताओं में फारूक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे, नायम खान, राजा मेहराजुद्दीन कालवाल, पीर सैफुल्लाह, अफताब हिलाली शाह उर्फ शाहिद-उल-इस्लाम, आइज अकबर खाने और अल्ताफ अहमद शाह शामिल हैं.