नजमा अख्तर बनीं जामिया की पहली महिला वीसी, रजनीश शुक्ला बने वर्धा विश्वविद्यालय के कुलपति

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने गुरुवार को तीन विश्वविद्यालों के कुलपति नियुक्त किये.

नजमा अख्तर बनीं जामिया की पहली महिला वीसी, रजनीश शुक्ला बने वर्धा विश्वविद्यालय के कुलपति
इतिहास में ऐसा पहली बार है जामिया में किसी महिला को वाइस चांसलर बनाया गया है.

नई दिल्ली: केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने गुरुवार को तीन विश्वविद्यालयों के कुलपति नियुक्त किये. इन नियुक्तियों से पहले चुनाव आयोग ने इसके लिए मंजूरी दी क्योंकि लोकसभा चुनाव के कारण फिलहाल आदर्श आचार संहिता (एमसीसी) लागू हैं. ये तीन विश्वविद्यालय जामिया मिल्लिया इस्लामिया, मोतिहारी के महात्मा गांधी गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय और वर्धा के महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय हैं. मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘नजमा अख्तर को जामिया का कुलपति नियुक्त किया गया है. इतिहास में ऐसा पहली बार है जामिया में किसी महिला को वाइस चांसलर बनाया गया है. 

एक सरकारी आदेश में कहा गया है कि जामिया मिल्लिया इस्लामिया अधिनियम 1988 के तहत प्राप्त अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए भारत के राष्ट्रपति ने जामिया के विजिटर की हैसियत से नई दिल्ली स्थित एनआईईपीएम में प्रोफेसर नजमा अख्तर को पांच साल के लिए जामिया मिल्लिया इस्लामिया का कुलपति नियुक्त किया.

Image may contain: text
नजमा अख्तर को जामिया का कुलपति नियुक्त किया गया है.

सरकार ने पद के लिए आईआईटी-दिल्ली के एसएम इश्तियाक, एसोसिएशन ऑफ यूनिवर्सिटीज के महासचिव फुरकान कमर के नाम भी छांटे थे. मणिपुर की राज्यपाल नजपा हेपतुल्ला जामिया की कुलाधिपति हैं. पिछले साल तलत अहमद के कश्मीर विश्वविद्यालय के प्रमुख के तौर पर जाने के बाद से जामिया में बिना कुलपति के काम हो रहा था. 

संजीव शर्मा और रजनीश कुमार शुक्ला के नामों को मोतिहारी केंद्रीय विश्वविद्यालय और वर्धा महात्मा गांधी विश्वविद्यालय के इस शीर्ष पद के लिए मंजूरी दी गयी है.’’

No photo description available.
रजनीश कुमार शुक्ला को वर्धा महात्मा गांधी विश्वविद्यालय के शीर्ष पद के लिए मंजूरी दी गयी है.

वैसे ऐसे वक्त में किसी नियुक्ति की इजाजत नहीं होती है लेकिन मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने यह दलील देते हुए चुनाव आयोग से अनुमति मांगी कि आदर्श आचार संहिता के लागू होने से पहले ही चयन प्रक्रिया पूरी कर ली गयी थी.