close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जम्‍मू-कश्‍मीर: बीते छह महीनों में सुरक्षाबलों ने मार गिराए 126 आतंकी, घुसपैठ में 43 फीसदी की कमी

सुरक्षाबलों की ठोस रणनीति और और तालमेलपूर्ण  प्रयासों का नतीजा है कि जनवरी 2019 से 14 जुलाई 2019 के बीच जम्‍मू और कश्‍मीर में 126 आतंकवादियों को मार गिराया गया है.

जम्‍मू-कश्‍मीर: बीते छह महीनों में सुरक्षाबलों ने मार गिराए 126 आतंकी, घुसपैठ में 43 फीसदी की कमी
घाटी में स्‍थानीय लोगों के आतंकी बनने की घटनाओं में करीब 40 फीसदी की कमी आई है. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: जम्‍मू और कश्‍मीर में आतंक विरोधी अभियान के तहत सुरक्षाबलों ने बीते छह महीनों के दौरान 126 आतंकियों को मार गिराया है. गृह मंत्रालय के अनुसार, सरकार की आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत कार्रवाई करते हुए सुरक्षाबलों ने जम्‍मू और कश्‍मीर में सक्रिय आतंकियों के विरुद्ध सक्रियता से कार्रवाई की है. 

गृह मंत्रालय के अनुसार, सुरक्षाबलों की ठोस रणनीति और और तालमेलपूर्ण  प्रयासों का नतीजा है कि जनवरी 2019 से 14 जुलाई 2019 के बीच जम्‍मू और कश्‍मीर में 126 आतंकवादियों को मार गिराया गया है. इस कार्रवाई के दौरान, हमारे सुरक्षाबलों के 75 जवानों ने देश के लिए अपने प्राणों का सर्वोच्‍च बलिदान दिया है. इन शहीदों में पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए 40 सुरक्षा बल कर्मी भी शामिल हैं.  

राज्‍यसभा में अपने लिखित जवाब में गृह राज्‍यमंत्री जी किशर रेड्डी ने बताया है कि सरकार ने आतंकवादी संगठनों द्वारा उत्‍पन्‍न की जा रही चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए सुरक्षा उपकरणों के सुदृढीकरण किया है. इसके अलावा, राष्‍ट्र विरोधी तत्‍वों के विरुद्ध सख्‍त कार्रवाई के लिए घेराबंदी और तलाशी अभियान को  तेज करने जैसे विभिन्‍न उपाय किए गए हैं. 

LIVE TV: 

राज्‍यसभा में दिए गए लिखित जवाब में गृह मंत्रालय ने बताया है कि सीमा पार से होने वाली घुसपैठ में बीते वर्ष की तुलना में इस वर्ष करीब 43 फीसदी की कमी आई है. वहीं स्‍थानीय लोगों के आतंकी बनने की घटनाओं में करीब 40 फीसदी की कमी आई है. सुरक्षाबलों की सख्‍ती का नतीजा है कि बीते वर्ष की तुलना में इस वर्ष आतंकी घटनाओं में 28 फीसदी की कमी आई है. 

गृह मंत्रालय के अनुसार, सुरक्षाबलों द्वारा शुरू की गई कार्रवाइयों में 59 फीसदी की वृद्धि हुई है. जिसके परिणामस्‍वरूप आतंकवादियों को मार गिराए जाने के मामले में 22 फीसदी की वृद्धि हुई है.