close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

LoC पार कर भारत में क्‍यों घुसा था पाकिस्‍तान का हेलीकॉप्‍टर, यह वजह आई सामने

पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर के पीएम राजा फारूक हैदर, पर्यटन मंत्री और शिक्षा मंत्री के साथ हेलीकॉप्‍टर में मौजूद थे.

LoC पार कर भारत में क्‍यों घुसा था पाकिस्‍तान का हेलीकॉप्‍टर, यह वजह आई सामने
रविवार को भारतीय हवाई क्षेत्र में घुस आया था पाकिस्‍तान का हेलीकॉप्‍टर. (फोटो ANI)
Play

श्रीनगर/नई दिल्‍ली : पाकिस्तान के एक हेलीकॉप्टर ने रविवार को जम्मू और कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर भारतीय हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया था. लेकिन भारतीय जवानों ने उस पर फायरिंग करके उसे भारत से बाहर खदेड़ दिया. रविवार को बताया गया था कि पाकिस्‍तान के इस हेलीकॉप्‍टर में पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) के प्रधानमंत्री राजा फारूक हैदर बैठे थे. अब इस हेलीकॉप्‍टर के भारतीय सीमा में घुसपैठ करने के पीछे की वजह सामने आई है.

पाकिस्‍तान का यह हेलीकॉप्‍टर रविवार को दोपहर करीब 12:10 बजे जम्‍मू-कश्‍मीर में पुंछ सेक्‍टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पार करके भारत में घुसा था. सफेद रंग के इस हेलीकॉप्‍टर पर नोल, सुसर और हाथी इलाके में तैनात सेना के जवानों ने छोटे हथियारों से फायरिंग की थी. इसके बाद यह तुरंत पाकिस्‍तान लौट गया.


पीओके के पर्यटन मंत्री मुश्‍ताक मिनहास. (फोटो यूट्यूब से)

अब पीओके के पर्यटन मंत्री ने इस घटना के बारे में बताया है. मंत्री मुश्‍ताक मिनहास के मुताबिक जिस वक्‍त इस हेलीकॉप्‍टर पर भारतीय सेना ने फायरिंग की, उस वक्‍त उसमें उनके साथ पीओके के पीएम राजा फारूक हैदर, पीएम का निजी सुरक्षा अधिकारी और पीओके के शिक्षा मंत्री इफ्तिकार गिलानी मौजूद थे.

पीओके के पर्यटन मंत्री मुश्‍ताक मिनहास ने कहा 'हमें इस बात का जरा सा भी पता नहीं चला कि हम भारतीय हवाई क्षेत्र में घुसे और हमने हवाई सीमा का उल्‍लंघन किया. हमें यह भी नहीं पता चला कि हमारे हेलीकॉप्‍टर पर गोलीबारी की गई.' उन्‍होंने कहा 'जब हम पाकिस्‍तान लौटे और हेलीकॉप्‍टर लैंड हुआ तो हमें पता चला कि भारत की ओर से हमारे हेलीकॉप्‍टर पर फायरिंग की गई है.'

मिनहास ने कहा 'जब हेलीकॉप्‍टर उड़ान भर रहा था तब हमारे पायलट को एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (एटीसी) की ओर से कोई भी संदेश नहीं आया था. लेकिन ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्‍योंकि यह पाकिस्‍तान सरकार या सेना का हेलीकॉप्‍टर नहीं था. जबकि उसकी व्‍यवस्‍था हम लोगों ने निजी तौर पर की थी.'

जम्मू कश्मीर : सोपोर में सेना की बड़ी कार्रवाई, लश्कर कमांडर सहित दो आतंकी हुए ढेर

उन्‍होंने कहा 'हम लोगों ने पिछली रात को ही इस दौरे की योजना बना ली थी. हमें समाहनी इलाके में एक शोक सभा में जाना था. वहां तक सड़क से जाने में सात घंटे लगते हैं. इस पर हम लोगों ने हेलीकॉप्‍टर से जाना ठीक समझा. इसके बाद जब हम काहुटा पहुंचे तो हमारे सैन्‍य अधिकारियों ने हम लोगों से दूसरे रूट से लौटने को कहा. इस पर हम लोग रावलकोट होते हुए इस्‍लामाबाद पहुंचे.'

मामले में जम्मू में सेना के जनसंपर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने बताया कि हेलीकॉप्टर ने रविवार दोपहर करीब 12:10 बजे हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया. उन्होंने कहा, ‘‘अग्रिम मोर्चे पर तैनात वायु पहरेदारों ने छोटे हथियारों के साथ उसका सामना किया.’’ उन्होंने कहा कि पूरी संभावना है कि यह एक असैन्य हेलीकॉप्टर था और बहुत ऊंचा उड़ रहा था.

अधिकारियों ने कहा कि सफेद रंग के हेलीकॉप्टर ने गुलपुर क्षेत्र में सीमा को पार किया कुछ देर मंडराने के बाद लौट गया. सूत्रों ने कहा कि हवाई क्षेत्र के उल्लंघन का पता चलने के बाद तीन अग्रिम चौकियों से छोटे हथियारों से निशाना साधा गया.