close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जम्‍मू के 5 जिलों में इंटरनेट शुरू, कश्‍मीर के 35 थानों से बैन हटा, कहीं हिंसा नहीं

श्रीनगर समेत दूसरे घाटी वाले हिस्‍सों में 12 दिनों से बंद 96 टेलीफोन एक्सचेंजों में से 17 को बहाल कर दिया गया है. 35 थानों से प्रतिबंध हटा लिया गया है.

जम्‍मू के 5 जिलों में इंटरनेट शुरू, कश्‍मीर के 35 थानों से बैन हटा, कहीं हिंसा नहीं
शन‍िवार को श्रीनगर के ज्‍यादातर हिस्‍सों में यातायात सामान्‍य रहा. फोटो: एएनआई

श्रीनगर: अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी कर जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने के चलते एहतियातन बंद किए गए इंटरनेट को जम्‍मू संभाग के 5 जिलों में शनिवार को फि‍र से शुरू कर दिया गया. इतना ही नहीं कश्‍मीर के हिस्‍से में भी कई जिलों में 2 जी सेवा शुरू कर दी गई. इसके अलावा घाटी के 35 थानों में हालात सामान्‍य रहने के कारण बैन हटा लिया गया.

श्रीनगर समेत दूसरे घाटी वाले हिस्‍सों में 12 दिनों से बंद 96 टेलीफोन एक्सचेंजों में से 17 को बहाल कर दिया गया है. 35 थानों से प्रतिबंध हटा लिया गया है.  राज्य की राष्ट्रपति शासन वाली सरकार ने शनिवार को कहा कि उत्तर, दक्षिण और मध्य कश्मीर क्षेत्र के 35 पुलिस स्टेशनों से प्रतिबंध हटा लिया गया है.

जम्‍मू के आईजीपी ने कहा, जम्‍मू जोन के 5 जिलों, जम्‍मू, सांबा, कठुआ, ऊधमपुर और रियासी में इंटरनेट सेवा फिर से शुरू कर दी गई है. इसके साथ ही प्रशासन और पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वह मोबाइल और सोशल मीडिया पर किसी भी तरह के फेक और हिंसा भड़काने वाले संदेश और पोस्‍ट या वीडियो शेयर न करें.

जम्‍मू आईजीपी ने कहा, जो भी इस तरह संदेश पोस्‍ट या शेयर करेगा, उसके खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी. उन्‍होंने कहा, जम्‍मू के बाजार खुले हुए हैं. यहां पर ट्रैफिक सामान्‍य है. राजौरी, रामबन और डोडा में स्‍कूल खोल दिए गए हैं. करीब करीब पूरे जम्‍मू हिस्‍से में हालात पूरी तरह से शांतिपूर्ण हैं.

श्रीनगर में भी जल्‍द सामान्‍य होंगे हालात
जम्मू एवं कश्मीर सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा, "कई टेलीफोन एक्सचेंजों को चालू कर दिया गया है और कई दूसरे एक्सचेंजों को कल (रविवार) शाम तक बहाल किया जा सकता है." उन्होंने कहा कि जम्मू डिवीजन में लैंडलाइन सर्विस समान्य रूप से काम कर रही है, जबकि पांच जिलों में मोबाइल सर्विस को बहाल कर दिया गया है.

कश्मीर में लगे प्रतिबंधों पर बात करते हुए कंसल ने कहा कि घाटी के 35 पुलिस स्टेशनों से प्रतिबंध हटा लिया गया है. कंसल ने कहा कि सड़कों पर यातायात की आवाजाही एक अच्छा संकेत है और यही सूचना ग्रामीण क्षेत्रों से भी आई है. उन्होंने कहा कि सभी सरकारी कार्यालय और स्कूल सोमवार से खोले जाएंगे.

घाटी के हालात के बारे में बताते हुए कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) स्वयंवर प्रकाश पाणि ने कहा, "प्रशासन स्थिति का आकलन कर रहा है. धीरे-धीरे ढील दी जा रही है." एहतियात के तौर पर घाटी के कई नेताओं को उन्हीं के घर में नजरबंद किया गया है, जिनमें राज्य के तीन पूर्व मुख्यमंत्री- डॉ.फारुख अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती भी शामिल हैं.
input: IANS