close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कश्‍मीर में एडवाइजरी से हड़कंप, राज्‍यपाल से मिलने पहुंचीं महबूबा मुफ्ती

अमरनाथ यात्रा वाले रूट में सुरक्षाबलों को एक स्‍नाइपर गन और क्‍लेमोर माइन मिली है. इसके बाद ये एडवाइजरी जारी की गई है. इसके विपक्षी दलों ने सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है.

कश्‍मीर में एडवाइजरी से हड़कंप, राज्‍यपाल से मिलने पहुंचीं महबूबा मुफ्ती

नई दिल्‍ली: आतंकी खतरे के मद्देनजर जम्‍मू-कश्‍मीर प्रशासन ने अमरनाथ यात्रा को समय से पहले खत्‍म करने की बात कही है. साथ ही एडवायजरी जारी की है कि जो यात्री घाटी में हैं. वह वापस लौटें. खुफिया एजेंसियों के हवाले से कहा गया है कि घाटी में जैश के 5 आतंकी घुसे हैं. ये अमरनाथ यात्रियों को निशाना बना सकते हैं.

प्रशासन की कश्‍मीर पर नई एडवाइजरी के बाद घाटी के दलों ने कहा कि इसके बाद यहां पर अफरा तफरी और भय का माहौल है. पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने तमाम गिले शिकवे भुलाकर नेशनल कॉन्‍फ्रेंस के प्रमुख फारुख अब्‍दुल्‍ला से मुलाकात की. इसके बाद उन्‍होंने राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक से भी भेंट की. उन्‍होंने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोध‍ित करते हुए कहा कि मैंने 70 साल में इतना डर और भय का माहौल घाटी में नहीं देखा है.

राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक ने कहा, यहां के मुद्दे को सुरक्षा के मामले के साथ मिला दिया गया है. मैंने सभी पार्ट‍ियों और उनके नेताओं से कहा है कि वह अपने समर्थकों को समझाएं कि इसे आपस में न मिलाएं. घाटी में शांति का माहौल बनाए रखें.

अमरनाथ यात्रा वाले रूट में सुरक्षाबलों को एक स्‍नाइपर गन और क्‍लेमोर माइन मिली है. इसके बाद ये एडवाइजरी जारी की गई है. इसके विपक्षी दलों ने सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है. नेशनल कॉन्‍फ्रेंस के नेता और पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला ने कहा, डर को फैलाना बहुत ही आसान है. लेकिन घाटी में ये बताने वाला कोई नहीं है कि हुआ क्‍या है. मेरे मन में कई सवाल हैं, लेकिन उनमें से किसी का जवाब नहीं है.
 

उमर ने कहा, मैं घाटी में कई  अहम लोगों से मिला, लेकिन उन्‍हें भी कुछ पता नहीं है. ऐसे हालात में गवर्नर कहां हैं. वह लोगों से क्‍यों बात नहीं करते. वह क्‍यों डर को फैलने दे रहे हैं. उनके एक आदेश से सड़क पर घबराहट का माहौल है. लेकिन वह शांत हैं.

महबूबा मुफ्ती ने कहा, श्रीनगर की सड़कों पर घबराहट का माहौल है. पेट्रोल पंप और एटीएम में भीड़ बढ़ गई है. लोग सामान इकट्ठा करने में लगे हैं. सरकार को सिर्फ अमरनाथ यात्र‍ियों की चिंता है, घाटी के लोगों किसके भरोसे छोड़ा जा रहा है. कश्‍मीर के मौजूदा हालात पर घाटी में एक सर्वदलीय बैठक बुलाई गई. इसमें नेशनल कॉन्‍फ्रेंस, पीडीपी और दूसरे अन्‍य दलों के नेता शामिल हुए.

वहीं कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, सरकार के ये कदम घाटी में डर के माहौल का बढ़ा रहा है.