जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने 48 घंटों के अंदर 3 आतंकी मारे, इनमें से एक पाकिस्तानी

सुरक्षाबलों ने जम्मू कश्मीर में पिछले 48 घंटों के भीतर एक कमांडर सहित लश्कर के तीन आतंकियों को मार गिराया है.

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने 48 घंटों के अंदर 3 आतंकी मारे, इनमें से एक पाकिस्तानी
बांदीपोरा जिले में एक मुठभेड़ में सुरक्षबलों को बड़ी सफलता मिली.(फाइल फोटो)

श्रीनगर: सुरक्षाबलों ने जम्मू कश्मीर में पिछले 48 घंटों के भीतर एक कमांडर सहित लश्कर के तीन आतंकियों को मार गिराया है. सुरक्षाबलों ने गांदरबल में मंगलवार सुबह हुई मुठभेड़ में 2 आतंकियों के मार गिराया. पुलिस के मुताबिक कल देर रात कल देर रात में गांदरबल के गुंड इलाके में 2-3 आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी. जिसके बाद बीती रात साढ़े 9 बजे पुलिस,सीआरपीएफ और सेना की ज्वाइंट टीम ने पूरे इलाके को घेरा. मंगलवार सुबह 3 से 03.30 बजे के आसपास आंतंकियों का पता चला. आतंकियों ने खुद को घिरा देख सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी. दोनों तरफ से हुई फायरिंग में आतंकियों के की मौत हो गई.

आईजीपी एसपी पानी ने कहा कि " एक पुख्ता खबर के बाद यह ऑपेरशन शुरू किया गया और इस में एक आतंकी जो पाकिस्तानी आतंकी था उसके पास से हथियार और गोला बारूद भी बरामद किया गया हैं, यह आतंकी लश्कर ए तैयबा से जुड़ा था. पानी ने कहा पाकिस्तान आतंकियों को इस तरफ धकेलने की कोशिश में रहता हैं मगर आतंकी विरोधी ऑपरेशन इंटेक्ट हैं."

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस मुठभेड़ स्थल से दो आतंकी जंगल इलाके की तरफ भागने में सफल हुए हैं. जिनकी तलाश जारी है. जंगलों में सेना ने तलाशी अभियान शुरु कर दिया है. गौरतलब है कि सितंबर के महीने में सेना ने गांदरबल के पहाड़ों में बड़े पैमाने पर ऑपरेशन शुरू किया था, जिसमें दो आतंकवादियों को मार दिया था और दो आतंकी समर्थकों को गिरफ्तार भी किया गया था.

सेना को तब यह खबर मिली थी कि एक विदेशी आतंकियों का गुट गुरेज़ से घुसपेठ कर बांदीपोरा से होकर दक्ष्णि कश्मीर जाने की कोशिश में थे जब गांदेरबल के जंगलों में इनको इंटेरसेपेट किया गया और एक मुठभे . में दो आतंकी मारे गए थे. तब से इन इलाकों में रुक रुक कर तलशी अभियान चलाए जा रहे हैं.

वही कल उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले में एक मुठभेड़ में सुरक्षबलों को बड़ी सफलता मिली जब मारे गए दो आतंकियों में से एक की पहचान अबू तल्हा के रूप में की गई जो पाकिस्तान मूल के लश्कर-ए-तैयबा का जिला कमांडर था.यह आतंकवादी घाटी में पिछले तीन वर्षों से सक्रिय था और कई हमलों के पीछे इस का हाथ था.