जम्‍मू-कश्‍मीर में बंद स्‍कूलों, मंदिरों का सर्वे कराएगी सरकार, 50 हजार मंदिर फिर से खोले जाएंगे

दरअसल आतंकवाद की वजह से वहां पर 50 हजार मंदिर बंद हो चुके हैं. गृह राज्‍यमंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि बंद पड़े मंदिरों को दोबारा खोलेंगे.

जम्‍मू-कश्‍मीर में बंद स्‍कूलों, मंदिरों का सर्वे कराएगी सरकार, 50 हजार मंदिर फिर से खोले जाएंगे

बेंगलुरू: केंद्र सरकार ने जम्‍मू-कश्‍मीर के संबंध में बड़ा फैसला लिया है. इसके तहत आतंकवाद के चलते बंद स्‍कूलों और मंदिरों का सर्वे करने का फैसला लिया गया है. दरअसल आतंकवाद की वजह से वहां पर 50 हजार मंदिर बंद हो चुके हैं. गृह राज्‍यमंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि बंद पड़े मंदिरों को दोबारा खोलेंगे. जी किशन रेड्डी ने कहा कि कश्‍मीर घाटी में बंद पड़े स्‍कूलों की संख्‍या जानने के लिए सर्वे किया जाएगा. इस संबंध में एक कमेटी का गठन किया गया है. साल-दर-साल करीब 50 हजार मंदिर भी बंद हो चुके हैं. उनमें से कुछ नष्‍ट कर दिए गए और मूर्तियों को भंजित किया गया. हमने ऐसे मंदिरों के भी सर्वे का आदेश दिया है.

इस बीच आर्टिकल 370 हटने के बाद जम्‍मू-कश्‍मीर के संबंध में सेना प्रमुख (Army chief) जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने बड़ा बयान दिया है. आर्मी चीफ ने कहा है कि बालाकोट (balakot) में आतंकवादी फिर से सक्रिय हो गए हैं. बता दें पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद 46 सीआरपीएफ जवानों की शहादत का बदला लेने के लिए भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में आतंकवादी शिविरों पर एयर स्ट्राइक (Air strike) की थी.

जम्मू कश्मीर: BJP और RSS नेताओं की हत्या के मामले में तीन आतंकी गिरफ्तार

LIVE TV

यह भी देखें:

जनरल बिपिन रावत ने कहा, 'पाकिस्तान (Pakistan) आतंकवादियों (Terrorists) की घुसपैठ के लिए संघर्षविराम का उल्लंघन करता है. हम संघर्षविराम के उल्लंघन से निपटना जानते हैं. हमारे सैनिकों को पता है कि कैसे कार्रवाई करना है. हम सतर्क हैं और यह सुनिश्चित करेंगे कि अधिकतम घुसपैठ को नाकाम किया जाए. सेना प्रमुख ने कहा कि कम से कम 500 आतंकवादी घुसपैठ की कोशिश में हैं. 

आर्मी चीफ ने कहा, कश्मीर घाटी में आतंकी और पाकिस्तान में बैठे उनके आकाओं के बीच कमुनिकेशन टूट चुका है लेकिन लोगों-लोगों के बीच संपर्क बना हुआ है.