जम्‍मू-कश्‍मीर: लड़की से शादी के लिए आतंकी ने परिवार को बनाया बंधक, मासूम भाई आतंक का शिकार

घाटी में पिछले 24 घंटे के दौरा 4 मुठभेड़ हुईं. इसमें 8 आतंकियों को ढेर कर दिया गया. 1 स्‍थानीय की मौत हो गई.

जम्‍मू-कश्‍मीर: लड़की से शादी के लिए आतंकी ने परिवार को बनाया बंधक, मासूम भाई आतंक का शिकार
आतंकियों का श‍िकार बने आतिफ अहमद की अंतिम यात्रा में उमड़ा लाेगों का हुजूम. फोटो : पीटीआई

श्रीनगर: कश्मीर के बांदीपुरा ज़िले के हाजिन में आतंकी एक लड़की से जबरन शादी करना चाहता था. जब उसकी वहां नहीं चली तो उसकी इस जिद का शिकार लड़की का मासूम भाई बन गया. लड़की को पाने के लिए आतंकियों ने परिवार के 8 लोगों को चार दिनों से बंधक बनाया हुआ था.  सूचना मिलने पर पुलिस ने आतंकियों को पकड़ने के लिए घेरा डाल दिया. क़रीब 7 घंटों तक पुलिस ने बंधकों को छुड़ाने का प्रयास किया. 7 लोगों को सुरक्षित बाहर निकलने में सफलता भी मिली.

मासूम आतिफ़ को पाकिस्तानी आतंकी ने बंधक बनाए रखा. जब सब प्रयास विफल रहे तो पुलिस ने मासूम आतिफ़ के परिजनों के द्वारा आतंकियों से अपील की कि इस मासूम को छोड़ दें मगर आतंकियों ने जवाब में गोलियाँ दाग़ी और मुठभेड़ शुरू हुई. 24 घंटों तक चली मुठभेड़ में 2 विदेश आतंकी मार गिराए गए. कश्मीर घाटी में पिछले 24 घंटों के दौरान 4 मुठभेड़ों में 7 आतंकी ढेर किए गए. जहां एक ओर बांदीपुरा और बारामुला में ऑपरेशन समाप्त हो गया है, वहीं सोपोर और शोपियाँ में तलाशी अभियान जारी था.

बंदिपोरा में ढेर हुआ लश्कर का टॉप कमांडर, दस लाख था इनाम
बांदीपोरा ज़िले के हाजिन इलाके के मीर मोहल्ला में ‪गुरुवार सुबह‬ एक तलाशी अभियान चलाया गया. इलाके में आतंकियों की सूचना मिलने पर सेना की 13 आरआर, सीआरपीएफ़ और एसओजी द्वारा साझा तलाशी अभियान चलाया गया. एसएसपी बांदीपुरा राहुल मलिक ने बताया कि “काफी दिनो से इनपुट मिल रहे थे, जिनके आधार पर कई बार तलाशी अभियान चलाये गए और कल भी तीन बार तलाशी अभियान चलाया गया और तीसरे तलाशी अभियान के दौरान दो आतंकी घेरे में फंस गए. इस मुठभेड़ में लश्कर के दो आतंकी अली और हुबेब को मार गिराया गया.”

अली ने काफी समय से इलाके में दहशत फैलाई हुई थी जिसके चलते स्थानीय लोग काफी परेशान थे और कल भी अपनी हरकतों से बाज़ न आते हुए उसने 8 लोगों को बंधक बना लिया, जिनमें से 6 लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने में करीब 7 घंटे का समय लगा और बाकी के 2 को आतंकियों ने नहीं छोड़ा, जिनमें अब्दुल हमीद (60) और आतिफ मीर (12) शामिल थे.  

पुलिस ने बताया बंधकों को छुड़ाने के लिए स्थानीय औकाफ कमेटी की मदद से ऐलान करवाया गया. उसके बाद युवक की मां और चाची को अंदर भी भेजा गया. एसएसपी के अनुसार “जिस समय उन्होने रूम इंटर्वेंशन की तो उस दौरान आतंकियों ने फायरिंग की, लेकिन उसके बावजूद भी युवक के चाचा को सुरक्षित बाहर निकालने में सफल रहे. चाचा द्वारा बताया गया कि नाबालिक युवक अली के कब्जे में है और उसके उसके गले पर चाकू रखा हुआ है, जिस कारण वो उसे बाहर नहीं आने दे रहा था.”

पुलिस के मुताबिक़ उन्होने सभा ‪9 बजे‬ शाम ‪6 बजे‬ तक इंतजार किया. कोई फायरिंग नहीं की. मजिस्‍ट्रेट द्वारा अपील कारवाई गई. इन सब प्रयासों के बाद हमें आतंकियों को मार गिराने में सफलता ज़रूर मिली,  लेकिन हमें इस बात का अफसोस ज़रूर है कि हम केवल एक ही बंधक को बचा पाए और दूसरे को आतंकी ने मार दिया.

एसएसपी ने बताया कि “उन्हे पता लग पाया है कि अली उस युवक की बहन से शादी करना चाहता था और इसी के चलते उसने लड़के समेत उसके पिता और चाचा को भी बंधक बनाया हुआ था. उसकी ज़िद थी कि जब तक लड़की नहीं आएगी तब तक वो नहीं छोड़ेगा और परिवार वाले इस हक में नहीं थे और उन्होने लड़की को पहले से ही बाहर भेज दिया था.”

पुलिस के मुताबिक़ पिछले साल हाजिन और सुमबल इलाके में जितनी भी आम नागरिकों की हत्याएँ हुई हैं उन में अली शामिल था. आतंकी अली का ट्रेडमार्क था वो एक बड़ी सी छुरी रखता था और उसी से गला काटता था. अली सुरक्षाबलों की लिस्ट में A++ कैटेगरी का आतंकी था और उस पर दस लाख का इनाम था. अली उतरी कश्मीर में पिछले 3 सालों से सरकारी था इसके मारे जाने से लश्कर को बड़ा झटका लगा है.

बारामूला में जैश के दो आतंकी डेर
बारामूला ज़िले के कलंतारा पायीन में सेना की 52आरआर, 29आरआर, पैरा कमांडो, सीआरपीएफ़ और एसओजी द्वारा चलाये गए ऑपरेशन में जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी मार गिराए गए, जिनमें सोपोर का आमिर रसूल और एक पाकिस्तानी आतंकी शामिल है जबकि इस मुठभेड़ में सेना के 3 पैरा कमांडो भी घायल हुए जिनकी हालत सिथिर है.

सोपोर में भी हुआ एक आतंकी ढेर
सोपोर के वारपुरा में भी मुठभेड़ के दौरान एक आतंकी मार गिराया गया जिसकी पहचान होनी अभी बाक़ी है. मुठभेड़ स्थल से थोड़ी दूर पुलिस पार्टी पर हुए ग्रेनेड हमले में पोलि‍स एसएचओ समेत 2 पुलिसकर्मी घायल हुए. यहां तलाशी अभियान अब भी जारी है ख़बरों के मुताबिक़ मारा गया आतंकी स्‍थानीय आतंकी था.

शोपियां में दो हिजबुल आतंकी ढेर, महिला एसपीओ की हत्या के थे ज़िम्मेदार
दक्षिणी कश्मीर के शोपियां ज़िले के रतनिपुरा गाँव में भी गुरुवार देर रात शुरू हुई मुठभेड़ में 2 आतंकियों को मार गिराया गया. बताया जा रहा है यह दोनों आतंकी शोपियाँ के ही रहने वाले थे और दो हफ़्ते पहले इस इलाक़े में एक महिला एसपीओ की हत्या की गई थी, उसके पीछे इन्‍हीं दोनों का हाथ था. इनमें एक आतंकी की पहचान शौकत अहमद के तौर पर हुई है, जो पहले पुलिस में एसपीओ था, लेकिन पिछले साल अक्‍टूबर में पीडीपी विधायक के सरकारी निवास ने 7 बंदूके और एक पिस्टल लेकर फ़रार हुआ था और आतंकी बना था.