close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इंटरनेशनल बॉर्डर और LoC पर लगातार फायरिंग कर रहा पाकिस्‍तान, घरों को नुकसान, मवेशी मारे गए

बीती रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक पाकिस्तानी गोलाबारी जारी रही, जिसमें कुछ मवेशी मारे गए. दागे गए पाकिस्तानी मोर्टार से कई घरों को भी नुकसान पहुंचा है. 

इंटरनेशनल बॉर्डर और LoC पर लगातार फायरिंग कर रहा पाकिस्‍तान, घरों को नुकसान, मवेशी मारे गए

नई दिल्‍ली/जम्‍मू : जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान (Pakistan) इस कदर बौखलाया हुआ है कि लगातार इंटरनेशनल बॉर्डर और एलओसी पर फायरिंग कर रहा है. जम्मू में कठुआ से लेकर कश्मीर में करणा-कुपवाड़ा तक लगातार अंतरराष्ट्रीय सीमा से लेकर लाइन ऑफ कंट्रोल पर लगातार संघर्षविराम का उल्लंघन कर शहरी और फौजी ठिकानों को निशाना बना रहा है. नापाक पाकिस्तान का सिर्फ एक ही मकसद है कि गोलाबारी की आड़ में किसी तरह घुसपैठ करवाकर जम्मू कश्मीर में आतंकियो को ढकेलना.

20 अक्टूबर को जम्मू कश्मीर के तंगधार टंगडार सेक्टर के उस पार नीलम वैली और लीपा वैली में सेना द्वारा की गई मुंहतोड़ कार्रवाई में तबाह हुए आतंकी कैंपों और पाक सैनिकों की मौत से भी कोई सबक न लेते हुए पाकिस्तान अब जम्मू के हीरानगर सेक्टर में अंतराष्ट्रीय सीमा से घुसपैठ करवाने की कोशिश में पिछले कई दिनों से फायरिंग कर रहा है.

 Jammu-2

बीती रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक पाकिस्तानी गोलाबारी जारी रही, जिसमें कुछ मवेशी मारे गए. दागे गए पाकिस्तानी मोर्टार से कई घरों को भी नुकसान पहुंचा है. शाम होते ही लोग बंकरों में जान बचाने के लिए छुप जाते हैं. हीरानगर सेक्टर के मनियारी गांब के सईद अली का एक कमरे का घर पाकिस्तानी मोर्टार गिरने से जलकर राख हो गया. राख के ढेर में सईद अली अपनी बीबी मूला के साथ बचा खुचा समान ढूंढ रहे हैं. 

पाकिस्तानी गोलाबारी में सईद अली की 2 भैंस मारी गई और एक जख्मी हो गई. सईद अली अपनी बीवी बच्चों के साथ बंकर में रह रहे हैं. किसानों की पैडी की फसल अभी पकी भी नहीं है फिर भी गांववाले अपनी आधी-अधूरी पकी फसल काटने को मजबूर है, क्योंकि गांववालों को पाकिस्तानी फायरिंग का खौफ है कि कहीं उनकी फसल पाकिस्तानी गोलों से बर्बाद न हो जाएं.

 Jammu-2

यही नहीं, पाकिस्तानी गोलाबारी से बच्चों की पढ़ाई का नुकसान हो रहा है. पाकिस्तानी फायरिंग से बचने के लिए गांववाले और मासूम बच्चे घरों के कोने में दुबककर पढ़ाई करने को मजबूर हैं. हीरानगर सेक्टर के पंसर और मनियारी गांव में दिन के समय काफी चहल-पहल रहती थी पर अब गांव में सन्‍नाटा पसरा हुआ है, क्योंकि लोग अपने घरों या बंकरों में दुबके रहते हैं.