Breaking News
  • मेरे अंदर 'मैं' की भावना नहीं है, अमित शाह से सहयोग और सानिध्‍य मिलता है, बीजेपी एक टीम है: नड्डा
  • पीएम मोदी के साथ काम करने का लंबा अनुभव, उनसे प्रेरणा मिलती है
  • महाराष्‍ट्र चुनाव में हम हारे नहीं, सत्‍ता के लिए हमारे साथ धोखा हुआ, ठाकरे हमारे साथ मिलकर लड़े थे
  • लोकसभा के चुनाव विधानसभा से अलग होते हैं, हर चुनाव दूसरे से अलग होता है
  • कांग्रेस पार्टी ने Lockdown के दौरान सतही राजनीति का परिचय दिया, पार्टी ने संकट के समय सियासत की
  • मोदी 2.0 के एक साल पूरे होने पर बीजेपी अध्‍यक्ष ZEE NEWS से खास बातचीत की

झारखंड HC ने राज्य सरकार से पूछा- कोरोना से लड़ने के लिए क्या है तैयारी, 9 सवालों के मांगे जवाब

झारखंड हाई कोर्ट के अधिवक्ता इंदरजीत सिन्हा के इस मामले में कोर्ट को 31 मार्च को भेजे एक ईमेल का स्वत: संज्ञान लेते हुए मुख्य न्यायाधीश डा. रविरंजन के नेतृत्व वाली खंड पीठ ने इसे एक जनहित याचिका में तब्दील कर दिया.

झारखंड HC ने राज्य सरकार से पूछा- कोरोना से लड़ने के लिए क्या है तैयारी, 9 सवालों के मांगे जवाब
(फाइल फोटो)

रांची: झारखंड हाई कोर्ट (Jharkhand, High court) ने शुक्रवार को राज्य सरकार से कोरोना (Coronavirus) महामारी से लड़ने की तैयारियों के बारे में नौ सवाल पूछे और मामले की सुनवाई के लिए सात अप्रैल की तारीख तय की है. 

झारखंड हाई कोर्ट के अधिवक्ता इंदरजीत सिन्हा के इस मामले में कोर्ट को 31 मार्च को भेजे एक ईमेल का स्वत: संज्ञान लेते हुए मुख्य न्यायाधीश डा. रविरंजन के नेतृत्व वाली खंड पीठ ने इसे एक जनहित याचिका में तब्दील कर दिया और केन्द्र तथा राज्य सरकार को नोटिस जारी कर इस मामले में उनका जवाब मांगा है और मामले की सुनवाई के लिए सात अप्रैल की तिथि निर्धारित की है।

मुख्य न्यायाधीश डा. रविरंजन तथा न्यायमूर्ति एनएस प्रसाद की खंड पीठ ने इस मामले की सुनवाई करते हुए सरकार से नौ सवाल पूछे हैं जिनमें कोरोना की राज्य में स्थिति, कोरोना से लड़ने के लिए बनाये गये अस्पतालों, पृथक केन्द्रों, उपकरणों, चिकित्सकों, नर्सों, बाहर से आये गये लोगों आदि का विवरण मांगा गया है।

न्यायालय ने यह भी पूछा है कि क्या राज्य के पास बाहर के राज्यों से आये ऐसे लोगों की संख्या है जिन्हें यहां से बाहर वापस भेज दिया गया?  साथ ही न्यायालय ने पूछा है कि राज्य में अब तक कुल कितने लोगों को पृथकवास में रखा गया और कितने लोगों की जांच की गयी है। इस मामले की सुनवाई सात अप्रैल को होगी।

कोरोना वायरस के चलते न्यायालय की कार्यवाही वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की गयी।

झारखंड के मुख्य सचिव ने कोरोना वायरस को लेकर समीक्षा की
झारखंड के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने शुक्रवार को यहां समीक्षा बैठक में कहा कि झारखंड में कोरोना पॉजिटिव के दो मामले मिलने के साथ हम महामारी के दूसरे चरण में हैं और अब हमें पूरी कोशिश करनी है कि तीसरे स्टेज में जाने से हर हाल में बचा जाए.

सिंह ने कहा, ‘‘यह संकट का समय है। हमारा समेकित प्रयास यह होना चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा लोगों का पता लगाकर, पृथक रखकर और जांच कराकर महामारी को दूसरे स्टेज से आगे नहीं बढ़ने दें।’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन हमें तैयारी तीसरे चरण से भी निटपने की रखनी है, ताकि समस्या आने पर किसी तरह की अफरा-तफरी की स्थिति नहीं रहे।’’