close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

J&K: अमेरिका में रह रहे भारतीय डॉक्‍टर्स ने वादी में शुरू की एम्‍बुलेंस सेवा

अमेरिका में बस चुके कश्मीरी डॉक्टरों ने घाटी में प्री-हॉस्पिटल मौतों को कम करने के उद्देश्‍य से यह सुविधा शुरू की है.

J&K: अमेरिका में रह रहे भारतीय डॉक्‍टर्स ने वादी में शुरू की एम्‍बुलेंस सेवा

नई दिल्‍ली: अमेरिका में रह रहे भारतीय डाक्‍टर्स के एक समूह ने जम्‍मू और कश्‍मीर में एम्‍बुलेंस सेवा की शुरूआत की है. फिलहाल, यह सुविधा श्रीनगर के वाशिंदों के लिए शुरू की गई है. जल्‍द ही एम्‍बुलेंस की सेवा वादी के दूर-दराज के इलाकों में भी शुरू की जाएगी. अत्‍याधुनिक मेडिकल इक्‍यूपमेंट से लैस इस एंबुलेंस में एक जूनियर डॉक्‍टर और एक पैरामेडिकल स्‍टाफ की तैनाती भी की जाएगी. टोल फ्री नंबर के माध्‍यम से कोई भी शख्‍स इस सुविधा का लाभ ले सकेगा. 
 
उल्‍लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर में सड़क से संबंधित मौतों और चोटों की संख्या में लगातार वृद्धि देखी जा रही है. ऐसे में, सड़क हादसे का शिकार हुए कई ऐसे लोग होते हैं, जिनको समय से अस्‍पताल न पहुंचने के चलते अपनी जान गंवानी पड़ती है. ऐसे लोगों की जान बचाने के लिए, अमेरिका में स्थित कश्मीरी डॉक्टर्स के एक समूह ने राज्य सरकार और कुछ गैर सरकारी संगठनों के साथ मिलकर एंबुलेंस सेवा की शुरूआत की है. 

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा की गई एक स्टडी में कहा गया है कि कश्मीर में सड़क दुर्घटनाओं में सबसे ज्यादा मौते होती हैं. 2018 में जम्‍मू और कश्‍मीर में कुल 5,529 सड़क दुर्घटनाएं हुई थीं. जिसमें, करीब 908 लोगों की मृत्‍यु हो गई. स्टडी के मुताबिक, सड़क हादसों में जान गंवाने वाले में ज्‍यादातर वे हैं, जिनको समय रहते अस्‍पताल नहीं पहुंचाया जा सका था. 

इस कार्यक्रम से जुड़ी डॉ नाहिदा के अनुसार, अमेरिका में रह रहे कश्मीरी डॉक्टर्स ने इन आपातकालीन सेवाओं को श्रीनगर में शुरू किया है. हम इसे श्रीनगर शहर में एक पायलट परियोजना के रूप में शुरू कर रहे हैं. एंबुलेंस में प्री-हॉस्पिटल आपातकालीन देखभाल प्रदान करने के लिए पैरामेडिक्स और जूनियर डॉक्टर होंगे. यह स्‍टाफ मरीजों के निकटतम स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में पहुंचने तक उनकी देखभाग करेंगे. डॉ नादिरा के अनुसार जिस जमीन और समाज से उनकी पहचान है, उस कश्‍मीर के लिए वह कुछ करने का प्रयास कर रही है.