जेएनयू प्रोफेसर: शहीद जवानों की मौत पर शोकसभा करने पर मेरी कार में तोड़फोड़, घर पर पथराव

 जेएनयू के एक सहायक प्रोफेसर ने शनिवार (29 अप्रैल) को आरोप लगाया कि कुछ लोगों ने उनकी कार में तोड़-फोड़ की और सुकमा तथा कुपवाड़ा में जवानों की मौत पर शोक प्रकट करने के लिए विश्वविद्यालय परिसर में एक कार्यक्रम आयोजित करने को लेकर उनके घर पर पथराव किया गया.

जेएनयू प्रोफेसर: शहीद जवानों की मौत पर शोकसभा करने पर मेरी कार में तोड़फोड़, घर पर पथराव
सहायक प्रोफेसर बुद्धा सिंह ने वसंत कुंज थाने में मामला दायर किया है. (एएनआई फोटो)

नयी दिल्ली: जेएनयू के एक सहायक प्रोफेसर ने शनिवार (29 अप्रैल) को आरोप लगाया कि कुछ लोगों ने उनकी कार में तोड़-फोड़ की और सुकमा तथा कुपवाड़ा में जवानों की मौत पर शोक प्रकट करने के लिए विश्वविद्यालय परिसर में एक कार्यक्रम आयोजित करने को लेकर उनके घर पर पथराव किया गया.

और पढ़ें... अलगाववादियों से वार्ता नहीं करना जम्मू-कश्मीर के लिए 'घातक'

बुद्धा सिंह ने अपने ट्वीट में कहा, ‘मेरी कार में तोड़फोड़ की गई और मध्यरात्रि में मेरे घर पर पथराव किया गया. ऐसा जेएनयू में सुकमा और कुपवाड़ा के शहीदों की याद में शोक सभा का आयोजन करने के पुरस्कार स्वरूप हुआ.’’ अपने ट्वीट में उन्होंने अपनी कार के क्षतिग्रस्त शीशे की तस्वीर भी डाली है.

और पढ़ें... शवों पर राजनीति कर रहे कश्मीरी अलगाववादियों से कोई बात नहीं

सिंह ने कहा, ‘मैंने पेरियार हॉस्टल के निकट अपनी कार पार्क की थी, जो छात्र संघ कार्यालय के सामने है. मुझे किसी पर संदेह नहीं है, लेकिन मैंने वसंत कुंज थाने में मामला दायर किया है.’ जेएनयूएसयू ने एक वक्तव्य में कहा कि सिंह सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं.