JNU में महिला पत्रकारों से बदसलूकी, अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर गुंडागर्दी क्यों?

JNU में महिला पत्रकारों से बदसलूकी, अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर गुंडागर्दी क्यों?

दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में कुछ छात्र अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर गुंडागर्दी कर रहे हैं. हमारी टीम जब इस प्रदर्शन को कवर करने पहुंची तो वहां मौजूद टुकड़े-टुकड़े गैंग में हड़कंप मच गया. खुद को स्कॉलर कहने वाले छात्र धक्का-मुक्की पर उतर आए और ZEE NEWS की महिला पत्रकारों के साथ भी बदसलूकी की. 

JNU में महिला पत्रकारों से बदसलूकी, अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर गुंडागर्दी क्यों?

नई दिल्ली: कश्मीर से धारा 370 (Article 370) हट चुकी है लेकिन JNU के कुछ छात्रों ने वैचारिक तौर पर अभी भी धारा 370 का साथ नहीं छोड़ा है. ये वो छात्र हैं जो अभिव्यक्ति की आज़ादी की बड़ी बडी तो करते हैं लेकिन उनसे जब सवाल पूछा जाता तो ये गुंडागर्दी पर उतर आते हैं. ZEE NEWS, गो बैक के नारे लगाते हैं और यहां तक कि महिला पत्रकारों के साथ भी बदसलूकी भी करते हैं. JNU के छात्र फीस फीस वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन इस दौरान न सिर्फ वो हंगामा कर रहे हैं. पुलिस से भिड़ रहे हैं बल्कि स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) की मूर्ति के नीचे अपमानजनक शब्द लिखने से भी बाज नहीं आ रहे हैं. 

JNU इन दिनों फीस बढ़ने और उसके खिलाफ होने वाले प्रदर्शनों की वजह से चर्चा में है. हमारी टीम जब इस प्रदर्शन को कवर करने पहुंची तो वहां मौजूद टुकड़े-टुकड़े गैंग में हड़कंप मच गया. खुद को स्कॉलर कहने वाले छात्र धक्का-मुक्की पर उतर आए और ZEE NEWS की महिला पत्रकारों के साथ भी बदसलूकी की. JNU में ZEE NEWS के खिलाफ नारे लगाए गए. ZEE NEWS के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी के खिलाफ नारे लगाए गए. महिला पत्रकारों को अपशब्द कहे गए. रिपोर्टिंग छोड़ वापस जाने को कहा गया. ZEE NEWS के कैमरामैन से फुटेज डिलीट करने को कहा. कैमरामैन के साथ हाथापाई की गई. ZEE NEWS ने ही JNU में मौजूद 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' (Tukde-Tukde gang) की पोल खोली थी. 

JNU में महिला पत्रकारों से बदसलूकी की 'आज़ादी' है?
JNU छात्र- घेरो मत, मजा लो
ज़ी मीडिया संवाददाता- फिर से बोलिए...क्या बोला आपने
JNU छात्र- यहां सब बैठकर मजे लेंगे
ज़ी मीडिया संवाददाता- यही करने आते हैं...मजा लेने आते हैं या पढ़ाई करने आते हैं. 

देखें वीडियो:

JNU में एंट्री के लिये अब परमिट चाहिए?
ज़ी मीडिया संवाददाता- हमें अपना काम करने दीजिए
JNU छात्र- नहीं, नहीं...निकलिए यहां से
ज़ी मीडिया संवाददाता- अरे ये क्या तरीका है?

JNU में 'अलगाववाद' की सोच को बढ़ावा ?
JNU कैंपस में Zee News की टीम के साथ हुए बुरे बर्ताव की ABVP ने की निंदा...जेएनयू में एबीवीपी के अध्यक्ष मनीष जांगिड़ और उपाध्यक्ष शिवम चौरसिया ने इस घटना की कड़ी निंदा की है. उहोंने कहा कि ये लोग अभिव्यक्ति की आजादी की बात करते हैं. यही अभिव्यक्ति की आजादी पत्रकारों को भी हासिल है. लेकिन शुक्रवार को जो कुछ भी जी न्यूज की पत्रकारों के साथ हुआ वह गलत था.

ये वीडियो भी देखें:

Trending news