#JusticeForNirbhaya: ZEE NEWS की मुहिम को पूरे देश का मिला साथ

निर्भया को इंसाफ दिलाने के लिए ZEE न्यूज ने मुहिम शुरू की है. इस मुहिम से जुड़ने के लिए आपको 7834998998 मिस कॉल देनी होगी. 

#JusticeForNirbhaya: ZEE NEWS की मुहिम को पूरे देश का मिला साथ

देश को दहला देने वाले निर्भया केस (Nirbhaya Case) में न्याय का इंतजार 7 साल से भी लंबा हो चुका है. निर्भया को इंसाफ दिलाने के लिए ZEE न्यूज ने मुहिम शुरू की है. इस मुहिम को देश के लाखों लोगों का साथ मिला है. इस मुहिम की सफलता इसी बात से लगाया जा सकता है कि कुछ घंटे में ही 4 लाख से अधिक लोगों ने मिस्ड कॉल  देकर निर्भया को जल्द न्याय मिले इसका समर्थन किया है. अगर आपने अभी तक मिस्ड कॉल नहीं दी है तो आप तुरंत मिस्ड कॉल दीजिए, क्योंकि जब तक निर्भया के दोषियों को फांसी नहीं हो जाती है ये मिस्ड कॉल बंद नहीं होनी चाहिए. आप 7 8 3 4 9 9 8 9 9 8 पर मिस्ड कॉल देकर इस मुहिम का हिस्सा बन सकतेे हैं. 

निर्भया पर हमारी ये मुहिम तभी कामयाब होगी, जब आप इसमें हमारा साथ देंगे. आप जागरूक होंगे, अपने अधिकारों के लिए लड़ेंगे और इंसाफ के लिए आवाज़ उठाएंगे तभी ये समाज बदलेगा. और तभी व्यवस्था बदलेगी. हमने देश भर की महिलाओं से बात की तो उन्होंने निर्भया के मामले में जो बातें कहीं, वो बेहद सकारात्मक हैं. 

अलग-अलग शहरों की महिलाओं ने कहा कि डर तो अपराधियों के मन में होना चाहिए, देश की लड़कियां भला क्यों डरें? हमने राजनीति, कानून और समाजसेवा से जुड़ी महिलाओं से भी बात की. इन महिलाओं ने कहा कि अगर कानून पर से जनता का भरोसा उठ गया तो ये देश के लिए खतरनाक होगा.

यह भी देखें:-

आज भारतीय टेलीविजन के इतिहास में पहली बार एक मां ने राष्ट्र के नाम संदेश दिया है और आज देश के तमाम इलाकों में लोगों ने जी न्यूज के माध्यम से निर्भया की मां के दर्द को सुना. Zee News की अपील पूरे देश ने सुनी और पूरे देश ने निर्भया की मां का संदेश सुना और उनका दर्द समझा. सड़क से लेकर रेस्टोरेंट तक और शॉपिंग मॉल से लेकर घरों तक लोग ZEE न्यूज पर DNA को बहुत ध्यान से देख रहे हैं. अगर निर्भया के न्याय को लेकर आपके सब्र का बांध भी टूट रहा है तो आप हमारी इस मुहिम का हिस्सा ज़रूर बनें. इसके अलावा आप Hashtag Maa Ka Sandesh पर Tweet करके भी अपनी प्रतिक्रियाएं दे सकते हैं.

अब तक आपने बड़े नेताओं, प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और राष्ट्र अध्यक्षों का राष्ट्र के नाम संदेश सुना होगा. लेकिन टीवी के इतिहास में पहली बार आज आप एक मां का राष्ट्र के नाम संदेश सुनेंगें . निर्भया की मां ने आज Zee News के माध्यम से अपनी बेटी को खोने का दर्द देश के साथ साझा किया है. उनके शब्दों में पीड़ा है, दुख है, उदासी है और रोष है. लेकिन उनकी न्याय की उम्मीद अभी खत्म नहीं हुई है. तमाम चुनौतियों और रुकावटों के बाद भी निर्भया की मां हारी नहीं हैं और वो चाहती हैं कि 3 मार्च को निर्भया के दोषियों को फांसी के साथ ही देश में एक नए युग की शुरुआत हो. और 3 मार्च को पूरे देश में निर्भया न्याय दिवस मनाया जाए.