शाहीन बाग: नोएडा-कालिंदी कुंज रूट खुला, लेकिन ज्यादा राहत नहीं; प्रदर्शनकारियों में मतभेद

शाहीन बाग के प्रदर्शकारियों ने शनिवार को एक रास्ते से बैरिकेडिंग हटा ली है. हालांकि, एक रास्ता खुलने से लोगों को बहुत ज्यादा राहत नहीं मिली. 

शाहीन बाग: नोएडा-कालिंदी कुंज रूट खुला, लेकिन ज्यादा राहत नहीं; प्रदर्शनकारियों में मतभेद

नई दिल्ली: शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को एक रास्ते से बैरिकेडिंग हटा ली है. 69 दिन बाद कालिंदी कुंज से नोएडा की ओर जाने वाले रास्ते से बैरिकेड हटा लिए गए हैं. नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने पिछले दो माह से इस रास्ते को बंद कर दिया था. हालांकि, एक तरफ का रास्ता खुलने से लोगों को बहुत ज्यादा राहत नहीं मिली है. प्रदर्शनकारियों में भी मतभेद की खबरें सामने आ रही हैं. डीसीपी साउथ-ईस्ट के मुताबिक, महज कुछ मिनट के लिए कालिंदी कुंज से रूट नंबर 9 शाहीन बाग प्रदर्शन साइट के पास का रोड कुछ प्रदर्शनकारियों ने खुलवाया. कुछ देर बाद शाहीन बाग के ही दूसरे प्रदर्शनकारियों ने इसे बंद करवा दिया. 

यह रास्ता ओखला, जामिया की तरफ से आते हुए नाले के रास्ते से बाहर वाली कालिंदी कुंज मेट्रो स्टेशन की तरफ जाता है. वहां से लोग बाएं हाथ की तरफ मुड़ें तो नोएडा की तरफ जा सकते हैं लेकिन आश्रम, ओखला जामिया होते हुए नोएडा जाना किसी के लिए आसान नहीं होगा.

इस रास्ते के खुलने से सिर्फ ओखला जामिया में रहने वाले लोगों को ही फायदा होगा. नोएडा से ट्रैफिक दिल्ली की ओर अभी भी नहीं आ सकता. कुल मिलाकर जो बैरिकेड हटाया गया है, उससे प्रदर्शनकारियों को ही मदद होगी। आम जनता को अभी भी परेशानी का सामना करना होगा.