नागपुर में कन्हैया पर फेंकी गई चप्पल, लगे मुर्दाबाद के नारे

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर गुरुवार को नागपुर के पंजाब राव देशमुख हॉल में एक कार्यक्रम के दौरान पहले जूता और फिर चप्पल फेंकी गई।  कन्हैया कुमार डॉ बीआर अंबेडकर की 125वीं जयंती के मौके पर अपने विचार लोगों के सामने रखने के लिए नागपुर पहुंचा था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों ने कन्हैया कुमार मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। कन्हैया कुमार जब सुबह कार्यक्रम स्थल की तरफ जा रहे थे तो उनकी गाड़ी पर पत्थर भी फेंके गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जब कन्हैया कुमार भाषण दे रहा था तभी बजरंग दल के कार्यकर्ता ने उस पर चप्पल फेंकी। 

नागपुर में कन्हैया पर फेंकी गई चप्पल, लगे मुर्दाबाद के नारे

नई दिल्ली: जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर गुरुवार को नागपुर के पंजाब राव देशमुख हॉल में एक कार्यक्रम के दौरान पहले जूता और फिर चप्पल फेंकी गई।  कन्हैया कुमार डॉ बीआर अंबेडकर की 125वीं जयंती के मौके पर अपने विचार लोगों के सामने रखने के लिए नागपुर पहुंचा था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों ने कन्हैया कुमार मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। कन्हैया कुमार जब सुबह कार्यक्रम स्थल की तरफ जा रहे थे तो उनकी गाड़ी पर पत्थर भी फेंके गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जब कन्हैया कुमार भाषण दे रहा था तभी बजरंग दल के कार्यकर्ता ने उस पर चप्पल फेंकी। 

पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को हिरासत में लिया है। कन्हैया पर हमला करने वाले बजरंग दल के बताये जा रहे हैं। यह पहला मामला नहीं है जब कन्हैया कुमार पर हमला किया गया है। गौर हो कि पिछले महीने जेएनयू में एक युवक ने कन्हैया कुमार को थप्पड़ मार दिया था। हैदाराबद में एक व्यक्ति ने उनपर जूता उछाला था। कन्हैया कुमार ने कहा कि ये लोग जेएनयू वालों से इसलिए डरते हैं क्योंकि अगर कोई सच बोलता है तो इनकी जमीनें हिलने लगती हैं। ये हमारा कुछ नहीं बिगाड़ सकते। उन्होंने कहा कि अगर आप अगली बार चप्पल फेंके तो दूसरी भी फेंके, किसी गरीब की मदद होगी।