Zee Rozgar Samachar

करवाचौथ का व्रत आज, सुहागिनों का सबसे बड़ा त्‍योहार

करवाचौथ का व्रत शुक्रवार को है और इसका आगमन रोहिणी नक्षत्र में हो रहा है। अपने पति के स्वास्थ्य और दीर्घायु के लिए किया जाने वाला करवा चौथ का व्रत हर विवाहित स्त्री के जीवन में एक नई उमंग लाता है। इसे सुहागिनों के लिए सबसे बड़ा त्‍योहार माना जाता है।

करवाचौथ का व्रत आज, सुहागिनों का सबसे बड़ा त्‍योहार

नई दिल्‍ली : करवाचौथ का व्रत शुक्रवार को है और इसका आगमन रोहिणी नक्षत्र में हो रहा है। अपने पति के स्वास्थ्य और दीर्घायु के लिए किया जाने वाला करवा चौथ का व्रत हर विवाहित स्त्री के जीवन में एक नई उमंग लाता है। इसे सुहागिनों के लिए सबसे बड़ा त्‍योहार माना जाता है।

निराजल और निराहार रहकर अखंड सुहाग की कामना का पर्व करवा चौथ आज है और विवाहित महिलाएं विधिवत पूजा अर्चना कर व्रत का पारण करेंगी। आज रोहिणी नक्षत्र और सर्वार्थसिद्ध योग में सौभाग्य का महापर्व है। चौथ के दिन शंकर पार्वती सहित कार्तिकेय और गणेश की पूजा की जाती है और चंद्रदेव को अर्घ अर्पित किया जाता है। करवाचौथ कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। यह व्रत सुबह सूर्योदय से पहले शुरू होकर रात में चंद्रमा दर्शन और पूजा के बाद पूरा होता है। ऋग्वेद में सौभाग्य के लिए सोलह श्रृंगारों का वर्णन है। मान्यता है कि सोलह श्रृंगार घर में सुख, समृद्धि लाने के लिए किए जाते हैं। महिलाएं हाथों में मेहंदी रचाती हैं, 16 श्रृंगार, पूजा कर व्रत का पारण करती हैं।

पति के स्वास्थ्य और दीर्घायु के लिए किया जाने वाला करवा चौथ का व्रत हर विवाहित स्त्री के जीवन में एक नई उमंग लाता है। करवा चौथ की पूजा से पहले और बाद में भजन-कीर्तन जरूर करें। इससे वातावरण में सकारात्मकता आती है और पूजन का पूर्ण फल मिलता है।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.