close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

निपाह मरीज की स्थिति स्थिर, केरल की स्वास्थ्य मंत्री ने दी जानकारी

केरल सरकार ने बुधवार को बताया कि निपाह विषाणु की चपेट में आने वाले कॉलेज छात्र की स्थिति स्थिर है वहीं निगरानी में रखे गए पांच अन्य की स्थिति में सुधार हो रहा है.

निपाह मरीज की स्थिति स्थिर, केरल की स्वास्थ्य मंत्री ने दी जानकारी

कोच्चि: केरल सरकार ने बुधवार को बताया कि निपाह विषाणु की चपेट में आने वाले कॉलेज छात्र की स्थिति स्थिर है वहीं निगरानी में रखे गए पांच अन्य की स्थिति में सुधार हो रहा है. इन सबका एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है. राज्य की स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा ने बताया कि विभिन्न जिलों से कुल 311 लोगों को निगरानी में रखा गया है. उन्होंने कहा, “छात्र की स्थिति स्थिर बनी हुई है. यह बिगड़ी नहीं है.” इससे एक दिन पहले ही पुष्टि हुई थी कि 23 वर्षीय छात्र निपाह विषाणु से संक्रमित है.

अस्पताल की तरफ से मंगलवार की रात जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन में कहा गया है कि उसे 30 मई को भर्ती किया गया था और “मरीज की हालत अब स्थिर है, धीरे-धीरे सुधार हो रहा है और उसका बुखार कम हो रहा है.” शैलजा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि कलमासेरी मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में फिलहाल भर्ती पांच लोगों के नमूने जांच के लिए आज सुबह पुणे के राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान भेज दिए गए हैं.

भारत पहुंचा जानलेवा निपाह वायरस, इस राज्‍य में पॉजिटिव पाया गया पहला केस

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, “उनकी सेहत की प्रारंभिक जांच दिखाती है कि वह गंभीर स्थिति में नहीं हैं. उनका स्वास्थ्य कल से बेहतर है. लेकिन चिकित्सक उन पर लगातार नजर बनाए हुए हैं. हमारा मानना है कि उनके रक्त नमूनों की जांच के परिणाम निगेटिव आएंगे. लेकिन अंतिम परिणाम आने तक हमें इंतजार करना चाहिए.'' शैलजा चिकित्सीय विशेषज्ञों एवं शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं.

उन्होंने कहा कि निपाह का इलाज तभी शुरू किया जाएगा जब उनके ब्लड टेस्ट से पुष्टि होती है कि वे इस संक्रमण की चपेट में आए हैं. जांच परिणाम बृहस्पतिवार शाम तक आने की उम्मीद है.

(इनपुट: एजेंसी भाषा)