close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जानिए, शपथ ग्रहण के बाद सबसे पहले किस देश के राष्‍ट्रपति से पीएम मोदी करेंगे बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 31 मई को हैदराबाद हाउस में बिम्‍सटेक सदस्‍य देशों के राष्‍ट्र प्रमुखों के अलावा मॉरिशस के प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे. 

जानिए, शपथ ग्रहण के बाद सबसे पहले किस देश के राष्‍ट्रपति से पीएम मोदी करेंगे बात
गुरुवार शाम सात बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्‍ट्रपति भवन में पद और गोपनी‍यता की शपथ ग्रहण करेंगे. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम राष्‍ट्रपति भवन में अपने दूसरे कार्यकाल के लिए प्रधानमंत्री पद की शपथ ग्रहण करेंगे. इस समारोह को खास बनाने के लिए इस बार बिम्‍सटेक देशों सहित कुल आठ देशों के राष्‍ट्राध्‍यक्षों को आमंत्रण भेजा गया है. आमंत्रण पाने वाले देशों में बिम्‍सटेक समूह में शामिल नेपाल, भूटान, श्रीलंका, म्‍यांमार, श्रीलंका, बांग्‍लादेश, थाईलैंड के अलावा मॉरिशस और किर्गीस्‍तान के राष्‍ट्र प्रमुख शामिल हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शपथ ग्रहण समारोह आज शाम करीब सात बजे शुरू होगा. शपथ ग्रहण समरोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा उनके मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले कैबिनेट मंत्री भी पद और गोपनीयता की शपथ ग्रहण करेंगे. 

सूत्रों के अनुसार, शपथ ग्रहण के ठीक बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबसे पहले विशेष रूप से आमंत्रित किर्गीस्‍तान  के राष्‍ट्रपति सूरनबे जीनबेकोव के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे. किर्गीस्‍तान  के राष्‍ट्रपति सूरनबे जीनबेकोव के साथ होने वाली इस द्विपक्षीय वार्ता को भारतीय विदेश नीति के तहत मोदी सरकार के पहले कदम के तौर पर देखा जा रहा है. सूत्रों की मानें तो इस मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्‍तान के मसले पर भी किर्गीस्‍तान के राष्‍ट्रपति के साथ बातचीत कर सकते हैं. उल्‍लेखनीय है कि मौजूदा समय में शंघाई सहयोग संगठन की अध्‍यक्षता किर्गीस्‍तान के राष्‍ट्रपति कर रहे हैं. अगले माह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दूसरे कार्यकाल की पहली विदेश यात्रा पर किर्गीस्‍तान की राजधानी बिश्‍केक जाने वाले हैं. जहां पर वे शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में शरीक होंगे. 

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल होने दिल्‍ली पहुंचेंगे ये VVIP विदेशी मेहमान, जानें पूरा शेड्यूल

यह भी पढ़ें: मोदी का शपथ ग्रहण समारोह: मेहमानों को परोसी जाएगी खास ‘दाल रायसीना’, 48 घंटे लगते हैं पकने में

31 मई को हैदराबाद हाउस में अन्‍य राष्‍ट्राध्‍यक्षों से मुलाकात करेंगे पीएम 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शरीक होने वाले विदेशी वीवीआईपी मेहमानों में बांग्‍लादेश के राष्‍ट्रपति अब्‍दुल हामिद,  मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवींद्र जगन्नाथ, भूटान के प्रधानमंत्री  डॉ. लोटे शेरिंग, थाईलैंड के स्‍पेशल इन्‍वॉय ग्रिसडा बूनराच, म्यांमार के राष्‍ट्रपति यू विन मिंट, श्रीलंका के राष्‍ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना, किर्गिस्‍तान के राष्‍ट्रपति सूरनबे जीनबेकोव और नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा का नाम शामिल है. किर्गिस्‍तान के राष्‍ट्रपति सूरनबे जीनबेकोव आज रात्रि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से द्विपक्षीय बात करने के बाद वापस चले जाएंगे. जबकि, अन्‍य देशों के राष्‍ट्र प्रमुखों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 31 मई को हैदराबाद हाउस में मुलाकात करेंगे. इन मुलाकातों के दौरान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिम्‍सटेक सदस्‍य देशों के साथ संबंध मजबूत करने के साथ भविष्‍य की विदेश नीति को नई दिशा देंगे. 

खास मेहमानों के सम्‍मान में रात्रि भोज देंगे राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद
सूत्रों के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह के बाद राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद विशिष्‍ट अतिथियों के सम्‍मान में रात्रि भोज की मेजबानी करेंगे. राष्‍ट्रपति भवन में आयोजित होने वाले रात्रिभोज में विदेशी मेहमानों के अतिरिक्‍त पीएम मोदी के मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले मंत्री भी शामिल होंगे. इस रात्रिभोज के लिए राष्‍ट्रपति भवन ने न केवल खास इंतजाम किए हैं, बल्कि मेहमानों के लिए खास मैन्‍यू भी तैयार किया है. इस मैन्‍यू में खास तौर पर दाल रायसीना को भी शामिल किया गया है. दाल रायसीना की खासियत यह है कि इसे बनाने में करीब 48 घंटे से भी अधिक का समय लगता है. इसके अलावा, मेहमानों की पसंद के अनुरूप भी खास व्‍यंजनों को इस रात्रिभोज में परोसा जाएगा.