close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIRAL: 11 साल पुरानी है दादी-पोती की भावुक कर देने वाली यह फोटो, जानें क्या है पूरा सच...

पिछले दिनों फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक फोटो काफी तेजी से वायरल हुई. 

VIRAL: 11 साल पुरानी है दादी-पोती की भावुक कर देने वाली यह फोटो, जानें क्या है पूरा सच...
(फोटो साभार- Facebook)

नई दिल्ली: सोशल मीडिया एक ऐसा माध्यम है जिसके जरिए कोई भी खबर वायरल की जा सकती है. पिछले दिनों फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक फोटो काफी तेजी से वायरल हुई. इस फोटो में एक दादी और पोती रोते हुए नजर आ रही थीं. खबर आई की ये एक वृद्धाश्रम की फोटो है जहां पर एक स्कूल के बच्चे गए थे और वहां पर अपनी दादी को देखकर इस बच्ची का रोना छूट पड़ा. ऐसा इसलिए था क्योंकि बच्ची जब भी अपने पैरेंट्स से अपनी दादी के बारे में पूछती थी तो वो कहते थे कि दादी अपने किसी रिश्तेदार के घर गई हैं. इस कहानी के सामने आते ही लोगों ने इस फोटो पर कमेंट करने शुरू कर दिए लेकिन इस फोटो की सच्चाई सामने आने के बाद से लोगों की बोलती बंद हो गई. 

दरअसल ये वायरल फोटो 11 साल पुरानी है और गुजरात की है. इस तस्वीर को एक समाज सेविका अनिता चौहान ने शेयर किया था जो कुछ ही दिनों में वायरल हो गई. सबसे दिलचस्प बात ये है कि ये फोटो 2007 की है. यह तस्‍वीर एक स्कूल ट्रिप की है जहां पर बच्चों को वृद्धाश्रम ले जाया गया था जहां पर इस बच्ची का अपनी दादी दिखीं तो वो अपने आंसू रोक नहीं पाई. उसके बाद बच्ची ने उन्हें अपने माता-पिता की कही बात बताई. ये सच है कि दादी वृद्धाआश्रम में थी लेकिन फोटो काफी पुरानी है. 

75 साल की इस आदिवासी महिला ने सिर्फ इतने दिनों में ही कमा लिए एक लाख रुपये

क्या है फोटो का पूरा सच 
इस फोटो को 11 साल पहले बीबीसी के वरिष्ठ फोटो पत्रकार कल्पित भचेच ने खींचा था. फोटो वायरल होने के बाद उन्होंने सारा वाकया फिर से बीबीसी के साथ शेयर करते हुए बताया है कि 2007 में वो एक असाइनमेंट पर अहमदाबाद के घोड़ासर के मणिलाल गांधी वृद्धाश्रम गए थे. वहां स्कूली बच्चों और वृद्धाश्रम की महिलाओं की अच्छी तस्वीरें खींचनी थीं. सभी बच्चे और वृद्ध महिलाओं को बैठाया गया और जैसे ही तस्वीर क्लिक हुई एक बच्ची उस भीड़ में मौजूद एक वृद्धा को देखकर रोने लगी. उसके बाद पता चला की वो दादी-पोती हैं और उनके इमोशनल पल को उन्होंने कैमरे में कैद कर लिया. 

गुजरात : सांप के साथ मस्ती पड़ गई युवक को भारी, देखें VIDEO

दादी अपनी मर्जी से रह रही हैं वृद्धाश्रम में 
इस तस्वीर के वायरल होने के बाद एक बार फिर से बीबीसी ने दादी दमयंती और पोती भक्ति से अहमदाबाद के उसी वृद्धाश्रम में जाकर बातचीत की. पोती भक्ति ने बताया कि मैं यह कहना चाहूंगी कि मेरी दादी अपनी मर्ज़ी से वृद्धाश्रम में रह रही हैं और उन्हें किसी ने यहां भेजा नहीं था. मुझे पता नहीं था कि वो कहां होंगी, ये पता था कि वो जा रही हैं, लेकिन किस वृद्धाश्रम में होंगी, ये नहीं पता था. सोशल मीडिया पर उठ रहे सवालों पर दादी दमयंती ने कहा कि अब यही मेरी फैमिली है और मैं यहां खुश हूं. मेरे बच्चे मुझसे मिलने आते रहते हैं और सभी बहुत अच्छे हैं. मैं यहां अपनी मर्जी से रह रही हूं.