तमिलनाडु के मंदिरों में प्रवेश के लिए ड्रेस कोर्ट, जींस, शर्ट और स्कर्ट पहनकर प्रवेश वर्जित

तमिलनाडु में मंदिरों में दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए ड्रेस कोर्ड लागू होने के तीन दिन बाद सोमवार को राज्य सरकार ने मद्रास हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती दी।  गौर हो कि तमिलनाडु के विभिन्न मंदिरों में श्रद्धालुओं को जींस और शॉर्ट पहनकर आने पर बैन लगाया गया है। एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, राज्य सरकार ने अपने अपील में कहा कि कोर्ट का आदेश तमिलनाडु मंदिर प्रवेश प्राधिकार अधिनियम, 1947 के अनुरूप नहीं है। इस अधिनियम के मुताबिक, हर मंदिर को अपने लॉकल कस्टम के हिसाब से ड्रेस कोर्ड फ्रेम करने का अधिकार है।

तमिलनाडु के मंदिरों में प्रवेश के लिए ड्रेस कोर्ट, जींस, शर्ट और स्कर्ट पहनकर प्रवेश वर्जित

नई दिल्ली: तमिलनाडु में मंदिरों में दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए ड्रेस कोर्ड लागू होने के तीन दिन बाद सोमवार को राज्य सरकार ने मद्रास हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती दी।  गौर हो कि तमिलनाडु के विभिन्न मंदिरों में श्रद्धालुओं को जींस और शॉर्ट पहनकर आने पर बैन लगाया गया है। एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, राज्य सरकार ने अपने अपील में कहा कि कोर्ट का आदेश तमिलनाडु मंदिर प्रवेश प्राधिकार अधिनियम, 1947 के अनुरूप नहीं है। इस अधिनियम के मुताबिक, हर मंदिर को अपने लॉकल कस्टम के हिसाब से ड्रेस कोर्ड फ्रेम करने का अधिकार है।

दिसंबर 2015 मद्रास हाईकोर्ट ने मंदिर अथॉरिटी को आदेश दिया था कि कोई भी जीन्स, बरमुंडा शॉर्ट्स, स्कर्ट और टाइट कपड़े पहनकर मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकता है। पलानी मंदिर के बाहर लगी सूचना के अनुसार, पुरुष श्रद्धालुओं को धोती, शर्ट, पायजामा या पैंट-शर्ट पहनने की सलाह दी गई है जबकि महिला श्रद्धालुओं से साड़ी या चूड़ीदार पहनने का आग्रह किया गया है। इसमें बताया गया है कि जो श्रद्धालु लुंगी, बरमुडा, जींस और कसी हुई लैगिंग्स पहनकर आएंगे उन्हें मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.