नोटबंदी में आपने जमा कराए थे 500 और 1000 के पुराने नोट, जानें उनका क्या हुआ?
X

नोटबंदी में आपने जमा कराए थे 500 और 1000 के पुराने नोट, जानें उनका क्या हुआ?

नोटबंदी के बाद 500 और 1000 के पुराने नोट आरबीआई की निगरानी में जमा हुए थे. इनके बदले लोगों को बराबर कीमत के नए नोट दिए गए और आज 500 और 2000 के नए नोट चलन में हैं, साथ ही 20, 100 और 50 के नए नोट भी आ गए हैं. 

नोटबंदी में आपने जमा कराए थे 500 और 1000 के पुराने नोट, जानें उनका क्या हुआ?

नई दिल्ली: साल 2016 में आज की ही तारीख को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक नोटबंदी (Demonetisation) का ऐलान किया तो हर कोई सकते में आ गया था. पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा था कि आज से 500 और 1000 के नोट कानूनी तौर पर वैध नहीं रहेंगे. पीएम के इस ऐलान के बाद नोट बदलने की प्रकिया शुरू हुई और लोगों ने अपने 500 और 100 के पुराने नोट (Old Notes) बैंक में जमा कर नए नोट इश्यू करा लिए. लेकिन आखिर 5 साल पहले जमा हुए उन पुराने नोटों का हुआ क्या? इस सवाल का जवाब हम आपके लिए लेकर आए हैं.

बाजार में आए नए नोट

नोटबंदी के बाद 500 और 1000 के पुराने नोट (Old Currency) आरबीआई की निगरानी में जमा हुए थे. इनके बदले लोगों को बराबर कीमत के नए नोट दिए गए और आज 500 और 2000 के नए नोट चलन में हैं, साथ ही 20, 100 और 50 के नए नोट भी आ गए हैं. नोटबंदी के दौरान 15 लाख करोड़ से ज्यादा के पुराने नोट जमा हुए थे और वे नोट आज चलन में भी नहीं हैं. 

नोटों से तैयार हुआ ये सामान

साल 2017 में एक आरटीआई के जवाब में सामने आया कि बंद हुए नोटों का डिसॉलूशन (Dissolution) यानी विघटन कर दिया जाता है. इन नोटों को फिर से बाजार में चलन के लिए वापस नहीं लाया जाता और इनके कागज का इस्तेमाल अन्य सामान बनाने में किया जाता है. आरबीआई के नियमों के मुताबिक बंद हो चुके नोटों को करेंसी वेरिफिकेशन प्रोसेसिंग सिस्टम (CVPS) के तहत विघटित किया जाता है. चलन से बाहर नोटों को पहले अलग-अलग कैटेगरी में बांटा जाता है और फिर उनके इस्तेमाल के बारे में फैसला होता है.

ये भी पढ़ें: बाइक के लिए लोन लेना हुआ आसान! एक झटके में घर बैठे पाएं 3 लाख, जानें प्रोसेस

पहले ये देखा जाता है कि करेंसी को खत्म किया जा सकता है या नहीं, इसके बाद इन नोटों की कतरनों को ब्रिक्स में तब्दील किया जाता है. नोट की कतरनों से तैयार इन ब्रिक्स से कार्डबोर्ड समेत कई तरह के गत्ते के सामान तैयार किए जाते हैं. अहमदाबाद के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन (NID) के छात्रों ने अपने हुनर से 500 और 1000 के पुराने नोटों से कई सारी चीजें बनाई थीं. दरअसल RBI ने इस काम के लिए एनआईडी से मदद मांगी थी जिसके बाद छात्रों ने नोट की कतरनों से तकिया, टैबल लैंप जैसे रोजमर्रा के सामान तैयार किए थे.

जानकारी के मुताबिक आरबीआई पुराने नोटों को रिसाइकिल नहीं करता यानी बंद होने के बाद फिर से उन नोटों को चलन में नहीं लाया जाता है. पुराने नोटों की खासियत ये है कि वे पानी में पूरी तरह गलते नहीं है और न ही कलर छोड़ते हैं. ऐसे में उनका इस्तेमाल कागज के अन्य सामान बनाने में किया जा सकता है.

Trending news