Zee Rozgar Samachar

कोलकाता : मॉल कर्मचारियों ने महिला को स्तनपान कराने से रोका, कहा-ये घर का काम है वहीं करें

अभिलाषा दास अधिकारी नाम की महिला ने कहा कि उसने मॉल के अलग-अलग तलों पर जाकर विभिन्न स्टोर से उनका ट्रायल रूम इस्तेमाल करने देने की इजाजत मांगी, लेकिन सबने मना कर दिया.

कोलकाता : मॉल कर्मचारियों ने महिला को स्तनपान कराने से रोका, कहा-ये घर का काम है वहीं करें
photo : @southcitymallkolkata

कोलकाता : शहर के एक प्रमुख मॉल के कर्मचारियों द्वारा एक महिला को कथित रूप से बाथरूम जाकर अपने बच्चे को स्तनपान कराने के लिए कहने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा भड़क गया. सोशल मीडिया पर किरकिरी होने के बाद मॉल के अधिकारियों को इस संबंध में माफी मांगनी पड़ी. मॉल के एक फेसबुक पेज पर महिला ने बताया कि यह घटना 27 नवंबर की है जब वह अपने सात माह के बच्चे को स्तनपान कराने की कोशिश कर रही थी.

अभिलाषा दास अधिकारी नाम की महिला ने कहा कि उसने मॉल के अलग-अलग तलों पर जाकर विभिन्न स्टोर से उनका ट्रायल रूम इस्तेमाल करने देने की इजाजत मांगी, लेकिन सबने मना कर दिया. अंतत: दूसरे तल पर कपड़ों के एक स्टोर ने उसे अपना ट्रायल रूम इस्तेमाल करने की इजाजत दी. महिला ने कहा कि वह मॉल से कई किलोमीटर दूर बेहाला में रहती है. फेसबुक पर कही गई महिला की बात पर मॉल प्रबंधन ने शुरुआत में बेपरवाह तरीके से जवाब देते हुए कहा था कि घरेलू काम घर पर किए जाने चाहिए.

पहले दिया लापरवाही से भरा ये जवाब


पहले मॉल ने अपने बयान में कहा, हम यहां पर कई कारणों से ब्रेस्ट फीडिंग की इजाजत नहीं देते हैं. लेकिन अगर कोई इमरजेंसी होती है, तो हम उसके लिए व्यवस्था करते हैं. हम आपको बताना चाहेंगे कि ये जगह शॉपिंग के लिए है. इसलिए इस तरह के घरेलू काम आप घर पर ही करें. हम आपके लिए दूसरों की प्राइवेसी से छेड़छाड़ नहीं कर सकते.

इस मामले में जब सोशल मीडिया पर विवाद बढ़ा तो सिटी मॉल ने सोशल मीडिया पर अपना बयान देकर माफी मांग ली.

अपने दूसरे बयान में मॉल की ओर से कहा गया कि हम अपने इस कृत्य के लिए बिना कोई कारण बताए माफी मांगते हैं. मॉल के हर तल पर चैंजिंग और फीड रूम की व्यवस्था है. लेकिन अभी मॉल पूरी तरह से तैयार नहीं है. इसलिए आपको ये तकलीफ हुई.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.