कुलगाम: IG का बयान, 'रेकी करके हुई बीजेपी नेताओं की हत्या, इन आतंकियों की तलाश'

कश्मीर के कुलगाम ( Kulgam) जिले में बीजेपी के तीन नेताओं की हत्या के मामले में पुलिस ने संभावित हत्यारों का पता लगा लिया है. पुलिस का कहना है कि यह हत्या रेकी (Reiki) करने के बाद योजना बनाकर की गई.  

कुलगाम: IG का बयान, 'रेकी करके हुई बीजेपी नेताओं की हत्या, इन आतंकियों की तलाश'
फाइल फोटो

श्रीनगर: कश्मीर के कुलगाम ( Kulgam) जिले में बीजेपी के तीन नेताओं की हत्या के मामले में पुलिस ने संभावित हत्यारों का पता लगा लिया है. पुलिस का कहना है कि यह हत्या रेकी (Reiki) करने के बाद योजना बनाकर की गई. 

रेकी करके घटना को अंजाम दिया गया: IG
आईजी कश्मीर जोन विजय कुमार कुमार ने कहा कि हत्या के तरीके से लग रहा है कि यह प्री-प्लान अटैक था. आतंकियों को फिदा हुसैन (Fida Hussain) की मूवमेंट और डेली रूटीन के बारे में पहले से जानकारी थी. उन्होंने फिदा हुसैन की गाड़ी का पीछा किया और फिर पास आकर उनकी कार पर गोलियों की बौछार कर दी. उन्होंने कहा कि इस मामले में तीन आतंकियों पर फिलहाल हमारा शक है. इनमें अब्बास शेख, निसार अहमद लोकल आतंकी हैं. जबकि एक पाकिस्तानी आतंकी लग रहा है.

बीजेपी नेताओं को दी गई थी सिक्योरिटी
उन्होंने कहा कि पिछले साल जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने से पहले राज्य के बीजेपी नेताओं ने गृह मंत्रालय को सुरक्षा के संबंध में पत्र लिखा था. उस पत्र में कश्मीर में बीजेपी नेताओं की जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा उपलब्ध करवाने की मांग की गई थी. इसके बाद नेताओं पर खतरे का आकलन कर एक सूची बनाई गई और उन्हें ऐहतियातन श्रीनगर के एक होटल में रखा गया. 

शपथ पत्र देकर घर पहुंचे थे फिदा हुसैन
आईजी के मुताबिक सुरक्षा प्राप्त इन नेताओं में बीजेपी नेता फिदा हुसैन भी शामिल थे. लेकिन कुछ दिन पहले वह शपथ पत्र देकर घर चले आए थे. जिसके बाद आतंकियो को इसकी भनक लग गई और उन्होंने मौका देखकर उनकी हत्या कर दी. उन्होंने कहा कि इन हत्याओं के पीछे पाकिस्तान का हाथ है और जल्द ही आतंकियों को उनके अंजाम तक पहुंचा दिया जाएगा. 

अंतिम विदाई में सैकड़ों लोग शामिल हुए
इस बीच कुलगाम हमले में मारे गए भाजपा युवा मोर्चा के महासचिव फिदा हुसैन के पैतृक गांव में अंतिम यात्रा निकाली गई. जिसमें आसपास के सैकड़ों लोग शामिल हुए. लोगों में आतंकियों के प्रति गम और गुस्सा था. इस हमले की जिम्मेदारी लश्कर-ए-तैयबा के ही एक मुखौटा संगठन द रेजिजटैंस फ्रंट (TRF) ने ली है.

ये भी पढ़ें- दोस्त की बहन को दिल दे बैठे थे लालू यादव के ये नेता, परिवार को मनाने में लगे 8 साल

बीजेपी ने दी कड़ी प्रतिक्रिया
 इस हत्या मामले पर बीजेपी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रविंदर रैना ने कहा कि आतंकियों के हमले में मारे गए बीजेपी के तीनों नेता नेता  जांबाज़ वर्कर थे. उन्होंने हमेशा मुल्क का तिरंगा बुलंद रखा. लेकिन कायर दहशतगर्दो ने रात के अंधेरे में छिप कर वार किया और हमारे बहादुर शहीद हो गए. उन्होंने कहा कि जिन्होंने भी ये किया है वो बच नहीं सकते. कानून तो अपना काम करेगा ही लेकिन  खुदा भी माफ़ नहीं करेगा. 

पिछले 6 महीने में बीजेपी के 14 नेताओं की हत्या
कश्मीर में बीजेपी नेताओं को लगातार आतंकी निशाना बना रहे हैं. पिछले छह महीने के दौरान कश्मीर घाटी में आतंकियों ने 14 बीजेपी नेताओं की हत्या कर डाली है....
4 मई को अनंतनाग में अतल गुल मीर की हत्या हुई
30 जून को शोपियां में बीजेपी नेता गौहर बट की हत्या
5 जुलाई को पुलवामा में शब्बीर बट की हत्या
8 जुलाई को वसीम बारी उसके पिता और भाई की हत्या
अगस्त के पहले हफ्ते में कुलगाम में सरपंच आरिफ अहमद शाह की हत्या
7 अगस्त को काजीकुंड में सरपंच सज्जाद अहमद की हत्या
10 अगस्त को बडगाम में हमीद नजर की हत्या
7 अक्टूबर को गांदरबल में बीजेपी नेता के घर पर आतंकी हमला
29 अक्टूबर को कुलगाम में तीन बीजेपी नेताओं की हत्या

'शैतान ही कर सकता है ऐसा काम'

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता अल्ताफ ठाकुर ने कहा कि ऐसा काम शैतान ही कर सकता है. ये शैतान की औलाद इंसानों को मारते हैं. दहशतगर्द लगातार लोगो को डराने के लिए ऐसा कर रहे है.

LIVE TV