close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कावेरी जल विवाद पर कुमारस्वामी को रास नहीं आई रजनीकांत की सलाह, दिया करारा जवाब

कुमारस्वामी ने कहा , ‘कर्नाटक में पानी होगा तब हमारे लिए उनको पानी देना संभव होगा. मैं रजनीकांत से आग्रह करता हूं वह आएं और बांध की स्थिति देखें कि हमारे किसानों का क्या हो रहा है.

कावेरी जल विवाद पर कुमारस्वामी को रास नहीं आई रजनीकांत की सलाह, दिया करारा जवाब
कुमारस्वामी ने रजनीकांत को राज्य में आने और स्थिति को देखने के लिए आमंत्रित किया. (फाइल फोटो)

बेंगलुरू: कावेरी नदी का जल तमिलनाडु को छोड़ने के मुद्दे पर जेडीएस नेता एच डी कुमारस्वामी ने रजनीकांत को राज्य में आने और स्थिति को देखने के लिए आमंत्रित किया. उन्होंने कहा कि स्थिति देखकर वह अपना रूख बदल देंगे. कुमारस्वामी ने कहा , ‘कर्नाटक में पानी होगा तब हमारे लिए उनको पानी देना संभव होगा. मैं रजनीकांत से आग्रह करता हूं वह आएं और बांध की स्थिति देखें कि हमारे किसानों का क्या हो रहा है. यह देखने के बाद आप (रजनीकांत) पानी चाहते हैं तो चर्चा करेंगे. ’ 

वह अभिनेता से नेता बने रजनीकांत के बयान पर जवाब दे रहे थे. उन्होंने कर्नाटक में नई सरकार को तमिलनाडु का कावेरी नदी का हिस्सा छोड़ने को कहा था . जेडीएस नेता ने कहा , ‘यहां स्थिति देखने पर , मुझे लगता है वह (रजनीकांत) अपना रूख बदल लेंगे.’

कर्नाटक में जो हुआ वह लोकतंत्र की जीत : रजनीकांत 
कर्नाटक विधानसभा में मुख्यमंत्री पद के लिए शक्ति परीक्षण से पहले बीजेपी नेता बी एस यदियुरप्पा के इस्तीफा देने के एक दिन बाद रविवार को रजनीकांत ने कहा कि पड़ोसी राज्य में हुआ राजनीतिक घटनाक्रम प्रजातंत्र की जीत है. रजनीकांत ने कहा , ‘संविधान के मुताबिक बहुमत विधानसभा के भीतर साबित करना होता है. कांग्रेस और जद (एस) यह करने जा रहे हैं और मैं इसे प्रजातंत्र की जीत के रूप में देखता हूं.’ 

कर्नाटक के राज्यपाल वजूभाई वाला द्वारा यदियुरप्पा को बुहमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय दिए जाने को ‘बेतुका’ कार देते हुए तमिल सुपरस्टार ने कहा कि ऐसा नहीं होना चाहिए था. उन्होंने कहा, ‘उच्चतम न्यायालय को सलाम, जिसने (इतना) अच्छा आदेश दिया. ’ उनका संकेत उच्चतम न्यायालय के उस फैसले की तरफ था जिसमें बीजेपी से विधानसभा में शनिवार को बहुमत साबित करने को कहा गया था. रजनी मक्कल मंदरम ’ (रजनी पीपुल्स फोरम) की महिला इकाई के पदाधिकारियों के साथ बैठक के बाद रजनिकांत ने कहा कि कावेरी मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय के निर्णय को अक्षरश : लागू किया जाना चाहिए.

(इनपुट - भाषा)