लखीमपुर हिंसा: सोमवार को किसान संगठनों का 'ट्रेन रोको' आंदोलन, रेलवे ने उठाया ये कदम
X

लखीमपुर हिंसा: सोमवार को किसान संगठनों का 'ट्रेन रोको' आंदोलन, रेलवे ने उठाया ये कदम

3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद से ही किसान मोर्चा अजय मिश्रा टेनी को मोदी सरकार में मंत्रिपरिषद से बर्खास्त करने की मांग कर रहा है. इसी मांग को लेकर एसकेएम रेल रोको आंदोलन करेगा.

लखीमपुर हिंसा: सोमवार को किसान संगठनों का 'ट्रेन रोको' आंदोलन, रेलवे ने उठाया ये कदम

नई दिल्ली: लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur Kheri Violence) मामले पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी को भारत सरकार में मंत्री पद से हटाकर तत्काल गिरफ्तार किए जाने की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा (Samyukt Kisan Morcha) ने सोमवार को 6 घंटे देशव्यापी रेल रोको आह्वान किया है. इस आह्वान के बाद ट्रेन से सफर करने वालों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है.

सुबह 10 से शाम 4 बजे तक प्रोटेस्ट

संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने साफ कर दिया है कि 'लखीमपुर खीरी हिंसा (Lakhimpur Kheri Violence) मामले में जब तक न्याय नहीं मिल जाता तब तक प्रदर्शन लगातार तेज होता जाएगा.' एसकेएम ने बयान जारी कर कहा है, 'सोमवार को 6 तक घंटे रेल रोको कार्यक्रम रहेगा, इसके तहत पूरे भारत में सुबह 10 से शाम 4 बजे तक रेल सेवाएं बाधित रहेंगी. रेल रोको पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहेगा और रेल संपत्ति को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा.' 

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री को बर्खास्त करने की मांग

3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद से ही किसान मोर्चा अजय मिश्रा टेनी को मोदी सरकार में मंत्रिपरिषद से बर्खास्त करने की मांग कर रहा है. एसकेएम के मुताबिक, अजय मिश्रा के केंद्र सरकार में गृह राज्यमंत्री होने के चलते, इस मामले में न्याय सुनिश्चित नहीं किया जा सकता है. भारतीय किसान यूनियन के उत्तरप्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन ने कहा, 'हमने अपने संगठन के लोगों के साथ रेल रोको कार्यक्रम की रूप रेखा बनाई है. सभी जिलों के किसान नेताओं को जरूरी दिशानिर्देश दे दिए गए हैं. जिला स्तर पर हमारे किसान रेलवे स्टेशनों पर जाकर रेल सेवाएं बाधित करेंगे.'

यह भी पढ़ें; J&K: आतंकियों ने फिर गैर-कश्‍मीरियों को बनाया निशाना, 2 मजदूरों की मौत; इमरजेंसी अलर्ट जारी

रेलवे ने कसी कमर

किसानों की ओर से रेल रोको आह्वान के बाद रेलवे अधिकारियों ने भी पूरी तैयारियां की हैं. रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा को लेकर उच्चस्तरीय अधिकारियों ने सुरक्षा बलों के अधिकारियों से विचार-विमर्श भी किया है. जानकारी के अनुसार, फिलहाल सभी ट्रेनें अपने रूट पर सामान्य रूप से सुचारु हैं. रेलवे द्वारा किसी ट्रेन को अब तक रद्द नहीं किया गया है. किसानों की रेल रोको अपील के बाद रेलवे ने एहतियातन सुरक्षा भी बढ़ाई है, ताकि किसी तरह के ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों को कोई परेशानी न हो.

LIVE TV 

Trending news