पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के जन्म सहित 25 दिसंबर के नाम और क्या-क्या दर्ज है?

1924 में आज ही के दिन भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म हुआ था.

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के जन्म सहित 25 दिसंबर के नाम और क्या-क्या दर्ज है?
बीजेपी भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जयंती मना रही है...

नई दिल्ली: 25 दिसंबर को पूरी दुनिया में क्रिसमिस का त्यौहार मनाया जाता है. इसके साथ ही नए साल के आने की दस्तक सुनाई देने लगती है. इतिहास में यह तारीख कई महान विभूतियों के जन्म-मरण के साथ दर्ज है. 1924 में आज ही के दिन भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म हुआ था और पड़ोसी देश पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भी 25 दिसंबर 1949 को पैदा हुए थे. यह भी अपने आप में दिलचस्प है कि दोनो देशों के इन दोनो नेताओं ने आपसी रिश्तों को बेहतर बनाने के लिए मिलकर प्रयास किए. मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति अनवर सादात का जन्म भी 25 दिसंबर को ही 1918 में हुआ था. इस दिन इस दुनिया से रूख्सत होने वालों की बात करें तो मूक फिल्मों के महानतम अभिनेता चार्ली चैपलिन का निधन 25 दिसंबर 1977 को हुआ.

देश-दुनिया के इतिहास में 25 दिसंबर की तारीख पर दर्ज विभिन्न घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:  

1771 : मुग़ल शासक शाह आलम द्वितीय मराठाओं के संरक्षण में दिल्ली के सिंहासन पर बैठे.

1918 : मिस्र के सैन्य अधिकारी और राजनेता अनवर सादात का जन्म. वह 1970 में मिस्र के राष्ट्रपति बने और 1981 में उनकी हत्या तक इस पद पर बने रहे. उन्होंने इस्राइल के साथ शांति प्रक्रिया की शुरूआत की 

और इसके लिए उन्हें 1978 में नोबेल शांति पुरस्कार से नवाजा गया.

1924 : पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का मध्य प्रदेश के ग्वालियर में जन्म. वह 1996 और फिर 1998 से 2004 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे. उन्हें पाकिस्तान और चीन के साथ संबंध बेहतर बनाने का श्रेय 

जाता है. 

1949 : पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का जन्म. वह 1990-93, 1997-98, और 2013-17 तक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रहे.

1977 : ब्रिटेन के जगप्रसिद्ध कॉमेडियन और फिल्म निर्देशक चार्ली चैपलिन का निधन. उन्हें मूक फिल्मों का युगपुरूष माना जाता है. उनका निधन स्विटजरलैंड में हुआ. 

1989 : रोमानिया के अपदस्थ राष्ट्रपति निकोलाए चाउसेस्कू और उनकी पत्नी एलेना को राष्ट्र के खिलाफ अपराधों का दोषी पाया गया और गोली से उड़ा दिया गया.

1991 : मिखाइल गोर्बाच्योफ के सोवियत संघ के राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देने के साथ ही सोवियत संघ के पतन की शुरुआत हुई.