close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महिलाओं का दर्द रोकने डॉक्टरों ने इजाद किया नया तरीका, लाफिंग गैस से करा रहे डिलीवरी

लाफिंग गैस की मदद से बिना दर्द के महिलाओं की डिलीवरी करवाई गई.

महिलाओं का दर्द रोकने डॉक्टरों ने इजाद किया नया तरीका, लाफिंग गैस से करा रहे डिलीवरी
लाफिंग गैस की मदद से बिना दर्द के महिलाओं की डिलीवरी करवाई गई.

कोलकाता: कोलकाता मेडिकल कॉलेज में पहली बार लाफिंग गैस (नाइट्रस ऑक्साइड) और ऑक्सीजन का 50-50 प्रतिशत मिलाकर एक गैस का मिश्रण तैयार किया गया जिससे बिना दर्द के महिलाओं की डिलीवरी करवाई गई. इस अस्पताल में एक के बाद एक 25 बच्चों ने जन्म लिया और वो भी बिना किसी दर्द के.

पश्चिम बंगाल के सरकारी अस्पताल में ऐसा पहली बार हुआ है. करीब एक साल पहले कोलकाता मेडिकल कॉलेज के प्रसूति विभाग के प्रधान पार्थ मुखोपाध्याय ने इस मामले में फैसला लिया था और कॉलेज के अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग की अनुमति के लिए आवेदन भेजी थी. साथ ही इस बारे में एक से अधिक बार इस विषय में चिकित्सक और विशेषज्ञों ने सेमिनार का आयोजन भी किया था.

इस गैस में जहां Nitros ऑक्साइड अर्थात लाफिंग गैस है. उसे ऑक्सीजन के साथ मिलकर एक सामान तरीके से entonox नाम के गैस को गर्भवती महिलाओं को मास्क के ज़रिये लगाया जाता है. जब भी उन्हें लेबर पेन होता है और एक सिलिंडर से उस गैस को नाक में एक मास्क के माध्यम से चढ़ाया जाता है.

डॉक्टर पार्थ मुखोपाध्याय ने बताया, ''लेबर पेन जब शुरू होता है तब हम इस मास्क को गर्भवती महिलाओं के मुंह में लगा देते हैं और एक परिमाण तक देते हैं जिससे दर्द कम होता रहता है और बिना किसी दर्द के ही डिलीवरी हो जाती है. वहीं इससे जच्चा और बच्चा को ज़रा-सा भी नुकसान नहीं पहुंचता. अभी तक हम एक महीने में इस तरीके का इस्तेमाल कर कुल 25 डिलीवरी करवा चुके हैं.''

कोलकाता मेडिकल कॉलेज की इस सफलता के बाद अब शहर का हर मेडिकल कॉलेज इसकी शुरुआत करना चाहता है.