कांग्रेस का CAA-NRC विरोध, राहुल गांधी ने कहा, 'असम को नागपुर से नहीं चलने देंगे'

कांग्रेस ने  अपने स्थापना दिवस पर आज देशभर में सीएए/एनआरसी के खिलाफ मार्च निकालने का फैसला किया है.

कांग्रेस का CAA-NRC विरोध, राहुल गांधी ने कहा, 'असम को नागपुर से नहीं चलने देंगे'
(फोटो साभार - ANI)

नई दिल्ली: कांग्रेस (Congress) अपने 135वें स्थापना दिवस पर आज देशभर में CAA और NRC के खिलाफ मार्च निकाल रही है. असम में सीएए और एनआरसी के विरोध में आयोजित रैली में राहुल ने कहा कि असम को नागपुर से नहीं चलने देंगे. उन्होंने कहा, 'असम को असम की जनता चलाएगी.' राहुल ने कहा, 'बीजेपी जहां भी जाती है, नफरत फैलाती है. असम में युवा विरोध कर रहे हैं, अन्य राज्यों में भी विरोध हो रहा है. आप उन्हें क्यों मार रहे हैं? बीजेपी लोगों की आवाज नहीं सुनना चाहती.'

इससे पहले लखनऊ में ऐसे एक ही मार्च का नेतृत्व प्रियंका गांधी वाड्रा ने किया. इस मौके पर प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने कहा, जो देश भर में NRC की चर्चा फैलाते हैं, आज कहते हैं कि चर्चा ही नहीं थी. ये देश आपको पहचान रहा है. आपकी कायरता को पहचान रहा है और आपकी झूठों से ऊब चुका है.'

प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, 'राज्य में अन्य विपक्षी दल ज्यादा नहीं बोल रहे हैं. लेकिन जैसा कि मैंने कहा, हम डरने वाले नहीं हैं, हम आवाज उठाते रहेंगे. चाहे हमें अकेले चलना पड़े. हमें अगले विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने के लिए तैयार रहना होगा.'

 

मुंबई में भी कांग्रेस के हजारों कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे और एनआरसी-सीएए के खिलाफ विरोध दर्ज कराया. वहीं दिल्ली, जयपुर और चेन्नई में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मार्च निकाले.

बता दें आज (28 दिसंबर) कांग्रेस का 135वां स्थापना दिवस है. इस मौके पर अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (sonia gandhi) पार्टी मुख्यालय में तिरंगा झडा फहराया. 

कांग्रेस 'संविधान बचाओ' के नारे के साथ पूरे देश में फ्लैग मार्च निकाल रही है. कांग्रेस फ्लैग मार्च के दौरान संविधान की प्रस्तवानी पढ़ेगी. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) इस दौरान असम में रहेंगे और सीएए के खिलाफ मार्च में शामिल होंगे. 

बता दें कांग्रेस सीएए के खिलाफ लगातार आक्रामक रवैया अपना रही है. कांग्रेस ने 23 दिसंबर को राजघाट पर धरना दिया था जिसमें कांग्रेस सभी वरिष्ठ नेता शामिल हुए थे. इस धरने में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित शीर्ष कांग्रेस नेतृत्व ने सीएए के खिलाफ राजघाट स्थित महात्मा गांधी समाधि स्थल के पास सत्याग्रह किया. उनके साथ सैकड़ों पार्टी समर्थक भी विरोध पर बैठे थे.