close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

LIVE: चिदंबरम की अर्जी पर शुक्रवार को होगी सुनवाई, कोर्ट ने याचिका में खामियों का किया जिक्र

INX मीडिया केस में पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी हुई है.

अंतिम अपडेट: बुधवार अगस्त 21, 2019 - 02:25 PM IST
फाइल फोटो

नई दिल्ली: INX मीडिया केस में सीबीआई की गिरफ्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट हो रही है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना ने कहा कि सीजेआई तय करेंगे कि इस पर सुनवाई कब हो. लंच ब्रेक के बाद सीजेआई ने जस्टिस रमन्ना की कोर्ट में मेंशनिंग की दी अनुमति. इससे पहले ED औऱ सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में कैविएट अर्जी दाखिल कर कहा कि हमारा पक्ष सुने बिना कोर्ट कोई एकतरफा आदेश न दे. 

बता दें कि दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी.  इस बीच, देर रात सीबीआई और ईडी के अधिकारियों की टीमें चिदंबरम के घर पहुंचीं, लेकिन वह वहां नहीं मिले. सीबीआई ने रात 11 बजे उनके घर पर नोटिस चस्‍पा कर दिया और दो घंटे में पेश होने का आदेश दिया. बुधवार सुबह से अब तक दो बार सीबीआई की टीम चिदंबरम के घर जा चुकी है. 

21 अगस्त 2019, 15:02 बजे

अब फिर याचिका को लिस्ट करने के निर्देश के लिए चीफ जस्टिस के सामने जा सकते हैं चिदंबरम के वकील. 

21 अगस्त 2019, 14:25 बजे

जस्टिस रमन्ना ने फिर सुनवाई से मना किया. कहा- जब तक मामला लिस्ट नहीं हो जाता तब तक सुनवाई नहीं होगी. हालांकि रजिस्ट्रार ने भी कोर्ट को बताया कि याचिका में जरूरी सुधार कर लिया गया है. लेकिन अभी लिस्ट नहीं होगी. जस्टिस रमन्ना के समक्ष कपिल सिब्बल ने कहा कि अभी तक लिस्ट नहीं हुई है. जस्टिस रमन्ना ने कहा कि रजिस्ट्रार ने बताया कि अभी आपकी याचिका में डिफेक्ट क्लियर नहीं हुए हैं.जिसमे हम कुछ नहीं कर सकते. सिब्बल ने कहा कि डिफेक्ट मामूली हैं.

21 अगस्त 2019, 14:24 बजे

कपिल सिब्बल ने जस्टिस रमन्ना की बेंच से कहा कि उनके पास कोई और विकल्प नहीं है इसलिए वो दोबारा मेनशनिंग के लिए आए हैं.जस्टिस रमन्ना ने कहा कि आपकी याचिका डिफेक्ट में है सुधार के बाद ही सुनवाई संभव.

21 अगस्त 2019, 14:04 बजे

कपिल सिब्बल और उनके वकीलों की टीम जस्टिस रमन्ना की कोर्ट में फिर चिदंबरम का मामला मेंशन करने पहुंचे.CJI ने जस्टिस रमन्ना की कोर्ट में  मेंशनिंग की अनुमति दी.

21 अगस्त 2019, 13:16 बजे

पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से फिलहाल राहत मिलना मुश्किल है. चिदंबरम की याचिका डिफेक्ट में चली गई है यानी इसमें सुधार की जरूरत है.ऐसे में सुप्रीम कोर्ट याचिका में सुधार करने के लिए कह सकता है.हाल ही में  अनुच्छेद 370 की याचिका पर वकील और याचिकाकर्ता को याचिका में सुधार करने को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था.मौजूदा समय में चिदंबरम की याचिका में खामी या कमी है जो रजिस्ट्री में दाखिल की गई है.

21 अगस्त 2019, 12:51 बजे

चिदंबरम मामले में सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में कैविएट अर्जी दाखिल कर कहा कि हमारा पक्ष सुने बिना कोर्ट कोई एकतरफा आदेश न दे.सूत्रों के मुताबिक चिदंबरम मामले की फ़ाइल लंच ब्रेक के दौरान चीफ जस्टिस के सामने रखी जाएगी. अगर वो आदेश देते हैं तो आज ही सुनवाई हो सकती है. चीफ जस्टिस ये तय करेंगे कि मामला किस बेंच में लगेगा.

21 अगस्त 2019, 11:03 बजे

पी चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल कोर्ट के सामने मेंशनिंग कर रहे है. सिब्बल ने कहा HC ने अपील का भी समय नही दिया, गिरफ्तारी से फिलहाल राहत मिले. चिदंबरम ने कहा कि वो राज्य सभा के सदस्य हैं, उनके भागने की कोई आशंका नहीं है, उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ करने की कोई जरूरत नहीं है. उन्हें न्याय के हित में अंतरिम के तहत सरंक्षण दिया जाए फिलहाल कोर्ट ने गिरफ्तारी पर रोक नहीं. 

21 अगस्त 2019, 11:02 बजे

चीफ जस्टिस की कोर्ट अयोध्या मामले की सुनवाई में है इसलिए. चिंदबरम के वकील कपिल सिब्बल ने कोर्ट नंबर तीन में जस्टिस रमन्ना की तीन जजों की बेंच के सामने मेंशन किया. आग्रह किया कि उनकी अपील को जल्द सुन लिया जाए. सोलिसिटर जनरल ने विरोध किया कि मामला गंभीर है . कपिल सिब्बल ने कहा - कि हमें गिरफ्तारी का डर है. हमारी याचिका सुनी जाए. जस्टिस रमना ने कहा - मुख्य न्यायाधीश तय करेंगे कि कब और कौन सुनवाई करेगा.

 

21 अगस्त 2019, 11:01 बजे

अब मुख्य न्यायाधीश यह फैसला करेंगे कि चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका पर जल्द सुनवाई हो या नहीं.

21 अगस्त 2019, 10:49 बजे

सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस एनवी रमन्ना ने पी चिदंबरम की अग्रिम जमानत की याचिका को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के समक्ष भेज दी है. 

21 अगस्त 2019, 10:47 बजे

सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि चीफ जस्टिस के पास जाएं चिदंबरम. यानि अब चिदंबरम को सीबीआई या ईडी गिरफ्तार कर सकती है.

21 अगस्त 2019, 10:44 बजे

सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम को अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया.  

21 अगस्त 2019, 10:37 बजे

सुप्रीम कोर्ट में कोर्ट रूम में वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद, विवेक तनखा मौजूद है. 

 

21 अगस्त 2019, 10:25 बजे

चिदंबरम के वकीलों द्वारा सुप्रीम कोर्ट में आज स्पेशल लीव पटिशन (SLP) फाइल की है. मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद अंतरिम राहत के लिए यह एसएलपी फाइल की गई है.

21 अगस्त 2019, 10:19 बजे

ऐसा बताया जा रहा है कि किसी भी वक्त चिदंबरम की गिरफ्तारी हो सकती है. बीजेपी नेता जीवीएल नरसिंह राव ने कहा कि चिदंबरम नीरव मोदी, मेहुल चौकसी की श्रेणी में शामिल हो गए है.

21 अगस्त 2019, 10:16 बजे

सीबीआई की टीम चौथी बार चिदंबरम के घर पहुंची. लेकिन अधिकारियों ने मीडिया को बताया कि चिंदबरम से संपर्क नहीं हो सका है. उ

21 अगस्त 2019, 09:57 बजे

इससे पहले चिदंबरम के वकील अर्शदीप सिंह खुराना ने कहा, "मेरे क्लाइंट (चिदंबरम) अपने कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल कर रहे हैं. उन्होंने 20 अगस्त को अग्रिम जमानत खारिज किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है और तत्काल राहत दिए जाने की मांग की है." 

21 अगस्त 2019, 09:38 बजे

अपने अगले ट्वीट में प्रियंका ने आगे लिखा, '....लेकिन सच्चाई कायरों के लिए असुविधाजनक है इसलिए उन्हें शर्मनाक तरीके से शिकार बनाया जा रहा है. हम उसके साथ खड़े हैं और सच्चाई के लिए लड़ते रहेंगे चाहे कोई भी परिणाम हो।'

21 अगस्त 2019, 09:32 बजे

प्रियंका गांधी वाड्रा चिदंबरम के समर्थन में उतर आई है. प्रियंका गांधी वाड्रा ने लिखा, 'अत्यंत योग्य और शिक्षित राज्यसभा सदस्य पी चिदंबरम, जिन्होंने ईमानदारी और निष्ठा के साथ देश के वित्त मंत्री और गृह मंत्री के रूप में अपनी सेवाएं दी. जो बेजिझक सत्ता के खिलाफ बोलते रहे और सरकार की नाकामियों का खुलासा करते रहे... ' 

21 अगस्त 2019, 08:56 बजे

सीबीआई की टीम अब चिदंबरम के घर से निकल चुकी है.

21 अगस्त 2019, 08:35 बजे

सीबीआई की टीम बुधवार सुबह एक बार फिर पी चिंदबरम के घर पहुंची. लेकिन चिदंबरम नहीं मिले. उनका फोन भी बंद आ रहा है.