close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मन की बात में बोले PM मोदी, पानी की समस्या ने देशवासियों को झकझोर दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम को रविवार शाम क्षेत्रीय भाषाओं में इसका अनुवाद प्रसारित किया जाता है. रेडियो पर प्रसारित होने वाले प्रधानमंत्री मोदी के इस कार्यक्रम को हर महीने के आखिरी रविवार को प्रसारित किया जाता है.

अंतिम अपडेट: रविवार जुलाई 28, 2019 - 11:19 AM IST

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात को संबोधित कर रहे हैं. इस बार प्रधानमंत्री मोदी के रेडियो कार्यक्रम की थीम जन की बात रखा गया है. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम को रविवार शाम क्षेत्रीय भाषाओं में इसका अनुवाद प्रसारित किया जाता है. रेडियो पर प्रसारित होने वाले प्रधानमंत्री मोदी के इस कार्यक्रम को हर महीने के आखिरी रविवार को प्रसारित किया जाता है. मन की बात कार्यक्रम के लिए हर बार प्रधानमंत्री मोदी जनता से सुझाव मांगते हैं और उस विषय पर अपने विचार रखते हैं. 

 

28 जुलाई 2019, 11:19 बजे

इसके लिए, आपको Quiz Competition में हिस्सा लेना होगा, सबसे ज्यादा अंक प्राप्त करने होंगे, आपको विजयी होना होगा. ईनाम के रूप में सर्वाधिक स्कोर करने वाले बच्चों को 7 सितंबर को श्रीहरिकोटा में Chandrayaan 2 की लैडिंग के क्षण का साक्षी बनने का मौका मिलेगा.

28 जुलाई 2019, 11:18 बजे

‘मन की बात’ के माध्यम से, मैं देश के विद्यार्थी दोस्तों के साथ, युवा साथियों के साथ एक बहुत ही दिलचस्प प्रतियोगिता के बारे में जानकारी साझा करना चाहता हूं और देश के युवक-युवतियों को निमंत्रित करता हूं.

 

28 जुलाई 2019, 11:06 बजे

मेरे कहने से पहले भी जल संरक्षण आपके दिल को छूने वाला विषय था, सामान्य मानवी की पसंदीदा विषय था. मुझको ऐसा लग रहा है, पानी की किल्लत ने भारतवासियों को झकझोंर कर रख दिया है.

28 जुलाई 2019, 11:05 बजे

पिछली बार मैंने प्रेमचंद की कहानियों की एक पुस्तक के बारे में चर्चा की थी और हमने तय किया था कि जो भी बुक पढ़ें, उसके बारे में नरेंद्र मोदी ऐप के जरिए शेयर करेंगे, ताकि ज्यादा से ज्यादा संख्या में लोग इस बारे में जान सकें. 

 

28 जुलाई 2019, 11:04 बजे

मन की बात कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, पिछले 1 महीने के अनुभव से मुझे लगता है कि हमें इसे आगे ले जाने की आवश्यकता है। हम नमो ऐप पर स्थायी पुस्तक कार्नर क्यों नहीं बनाते हैं, इसलिए, जब भी हम पुस्तक पढ़ते हैं, हम लिखते हैं, इस मंच पर इसके बारे में चर्चा करते हैं! और आप हमारे पुस्तक कोने के लिए उपयुक्त नाम भी सुझा सकते हैं.

28 जुलाई 2019, 11:01 बजे

देखिए LIVE TV