close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ट्रक चालक कहता रहा 'मैं भी कश्मीरी हूं', प्रदर्शनकारियों ने एक न सुनी और पत्थर मारकर ले ली जान

अनंतनाग (Anantnag) से एक ट्रक गुजर रहा था, प्रदर्शनकारियों ने समझा कि यह सुरक्षाबलों की गाड़ी है, जिसके बाद उन्होंने उसपर पत्थरबाजी शुरू कर दी. 

ट्रक चालक कहता रहा 'मैं भी कश्मीरी हूं', प्रदर्शनकारियों ने एक न सुनी और पत्थर मारकर ले ली जान
जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के अनंतनाग (Anantnag) में पत्थरबाजी में ट्रक चालक की मौत.

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में लोगों के पथराव में स्थानीय ट्रक चालक की मौत हो गई है. यह घटना दक्षिण कश्मीर में घटी है. इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. बताया जा रहा है कि अनंतनाग (Anantnag) से एक ट्रक गुजर रहा था, प्रदर्शनकारियों ने समझा कि यह सुरक्षाबलों की गाड़ी है, जिसके बाद उन्होंने उस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी. इस पथराव में स्थानीय ट्रक चालक की जान चली गई. ट्रक चालक को सिर में चोट लगने के बाद अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. 

दक्षिण कश्मीर (south Kashmir) के अनंतनाग जिले में ट्रक पर हुई पत्थरबाजी में चालक की गई जान के मामले में दो युवकों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने कहा कि अनंतनाग में बिजबेहारा इलाके के जरीदपोरा से ट्रक चालक (Truck Driver) की हत्या के मामले में दो मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. साथ ही छह अन्य लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है.

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में रविवार शाम प्रदर्शनकारियों की ओर से किये गए पथराव में एक कश्मीरी ट्रक चालक की मौत हो गई थी. पुलिस ने बताया कि नूर मोहम्मद डार (42) जिले के जरादीपुरा उरानहाल इलाके का रहने वाला था और घटना के समय अपने घर लौट रहा था.

लाइव टीवी देखें-:

इसी दौरान प्रदर्शनकारियों ने उसके ट्रक को सुरक्षा बलों का वाहन समझकर उस पर पथराव कर दिया था. चालक को सिर में चोट लगने के बाद अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारी आम लोगों पर भी पथराव करते रहे हैं और इस महीने की शुरुआत में श्रीनगर शहर में पथराव में 11 वर्षीय लड़की की आंख में चोट आई थी. जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने अधिकारियों को आरोपियों को पकड़ने और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिए थे.