उज्जैन में रातोंरात बनाया गया 100 बेड का वार्ड, मरीजों को 24 घंटे मिलेगी ऑक्सीजन

जानकारी के मुताबिक उज्जैन के इस कोरोना वार्ड में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनें भी लगाई गईं हैं. इन मशीनों का स्विच ऑन करते ही ऑटोमेटिक ऑक्सीजन सप्लाई होती रहेगी. इस वार्ड में एक समय में 100 मरीजों को भर्ती किया जा सकेगा.

उज्जैन में रातोंरात बनाया गया 100 बेड का वार्ड, मरीजों को 24 घंटे मिलेगी ऑक्सीजन
सांकेतिक तस्वीर.

उज्जैन: मध्य प्रदेश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण ने विकराल रूप धारण कर लिया है. ऑक्सीजन की कमी से हर दिन मरीजों की मौत हो रही है. इसी को देखते हुए उज्जैन के आर्डी गार्डी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 100 बेड का कोरोना वार्ड बनाया गया है. इस वार्ड में मरीजों को हर समय ऑक्सीजन मिल सकेगी. मरीजों को किसी प्रकार की दिक्कत न हो इसलिए वार्ड में 24 घंटे डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टॉफ की तैनाती रहेगी.

राजू गांधी ने पेश की इंसानियत की मिसालः जो काम सरकार को करना चाहिए, वो ये शख्स अकेले दम पर कर रहा

जानकारी के मुताबिक उज्जैन के इस कोरोना वार्ड में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनें भी लगाई गईं हैं. इन मशीनों का स्विच ऑन करते ही ऑटोमेटिक ऑक्सीजन सप्लाई होती रहेगी. इस वार्ड में एक समय में 100 मरीजों को भर्ती किया जा सकेगा. वहीं, ऑक्सीजन की कमी न हो इसलिए परिसर में ही ऑक्सीजन टैंक भी लगाया गया है. 

इस संबंध में जानकारी देते हुए मेडिकल कॉलेज अस्पताल के कोविड नोडल अधिकारी डॉ. सुधाकर वैद्य ने बताया कि इस अस्पताल को ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए बनाया गया है. यहां भर्ती होने वाले मरीजों को ऑक्सीजन मिल सके, इसके लिए ऑक्सीजन मशीनें लगाई गईं हैं. यहां हर बेड पर एक-एक मशीन रहेगी, जो कि वातावरण से ही ऑक्सीजन तैयार करती रहेगी. 

वहीं, जिले में ऑक्सीजन की कमी और इंजेक्शन की कमी को लेकर जिलाध्यक्ष विवेक जोशी की अगुवाई में प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बातचीत भी की. इस दौरान जोशी ने मुख्यमंत्री को बताया कि प्रदेश में मरीजों के लिए इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कमी की समस्या आ रही है, इसका निदान होना चाहिए. साथ ही इसे लेकर सभी जिलों में अलग-अलग कोटा तय किया जाना चाहिए. 

Indian Railways का बड़ा फैसला, चलाई जाएंगी Oxygen Express, जानिए क्यों हैं खास

इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिलाध्यक्ष और प्रतिनिधिमंडल को आश्ववस्त किया कि इसको लेकर जल्दी ही अलग-अलग व्यवस्था की जाएगी. वहीं, जिलाध्यक्ष ने यह भी बताया कि जिले में ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट भी बनाए जाएंगे. इसमें एक प्लांट की लागत 30 से 40 लाख रुपए आएगी. जिसके लिए मंत्री डॉ मोहन यादव, विधायक पारस जैन और रामलाल मालवीय ने 50-50 लाख रुपए देने की घोषणा की है. जल्द ही इसका भी निर्माण शुरू कर दिया जाएगा. 

WATCH LIVE TV