अस्पताल में 18 सफाई कर्मचारियों को नहीं मिला वेतन, स्वास्थ्य मंत्री बेले-जिसने रखा वही देंगे तनख्वाह

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में मेडिकल अस्पताल में 18 कर्मचारियों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है. 5 महीने तक काम करने के बावजूद उन्हें वेतन नहीं दिया गया है.

अस्पताल में 18 सफाई कर्मचारियों को नहीं मिला वेतन, स्वास्थ्य मंत्री बेले-जिसने रखा वही देंगे तनख्वाह
फाइल फोटो

सुशील कुमार /अंबिकापुर : छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में मेडिकल अस्पताल में 18 कर्मचारियों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है. 5 महीने तक काम करने के बावजूद उन्हें वेतन नहीं दिया गया है. अस्पताल प्रबंधन में तालमेल की कमी का खामियाजा कर्मचारियों को भुगतना पड़ है.

दरअसल, 5 महीने पहले मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 18 महिला रोजी-रोटी के लिए काम की तलाश में पहुंची थी, उस वक्त मेडिकल अस्पताल के रिटायर्ड कर्मचारी अमरनाथ कश्यप ने उन्हें साफ-सफाई के लिए रख लिया था. उसने अस्पताल प्रबंधन के द्वारा एक दिन के 300 रुपये देने की बात कही थी.

महिलाओं ने कहा कि, उन्होंने अस्पताल प्रबंधन से अपनी मेहनत की कमाई के पैसे मांगे तो, अधिकारियों ने देने इनकार कर दिया. वहीं अधिकारियों की माने तो, रिटायर्ड कर्मचारी ने प्रबंधन को जानकारी नहीं दी थी कि उसने 18 महिलाओं को अस्पताल के वार्ड की साफ-सफाई के लिए रखा है. इसलिए महिलाओं को वेतन नहीं दिया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़: CM आवास के बाहर आत्मदाह करने वाले हरदेव ने तोड़ा दम, शुरू हुई राजनीति

वेतन की भुगतान के लिए दर-दर भटक रही महिला सफाईकर्मियों ने जनप्रतिनिधियों से भी वेतन के भुगतान को लेकर गुहार लगाई है. इस मसले में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि जिसने नौकरी पर रखा है, वही तनख्वाह देंगे.

watch live tv: