close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चॉकलेट देने के बहाने 5 साल की बच्ची को मंदिर में ले गए पुजारी, किया रेप

मंगलवार शाम को मंदिर के पुजारियों ने बच्ची को चॉकलेट देने के बहाने मंदिर में बुलाया और फिर उसके साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया.  

चॉकलेट देने के बहाने 5 साल की बच्ची को मंदिर में ले गए पुजारी, किया रेप
सांकेतिक चित्र

भोपाल : देश में कड़ा कानून होने के बावजूद छोटी मासूम बच्चियों के साथ रेप और यौन दुर्व्यवहार की घटनाएं कम नहीं हो रही है. ताजा घटनाक्रम में मध्यप्रदेश के दतिया जिले में मंदिर परिसर में दो पुजारियों ने एक 5 साल की मासूम को हवस का शिकार बनाया. मंगलवार शाम को मंदिर के पुजारियों ने बच्ची को चॉकलेट देने के बहाने मंदिर में बुलाया और फिर कथित तौर पर उसके साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया.  

रेप के बाद बच्ची को खुद छोड़ा घर
बताया जा रहा है कि बच्ची के साथ रेप की वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपी पुजारी खुद बच्ची को घर छोड़ने आए. पुलिस में दर्ज की गई रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों आरोपी जब बच्ची को घर छोड़ने आए तो उसे धमकी भी दी, कि अगर उसने इसके बारे में किसी को बताया तो अंजाम बुरा होगा. पुलिस ने बताया कि मंगलवार देर रात पीड़ित बच्ची के दर्द हुआ, जिसके बाद उसकी मां ने इसकी वजह पूछी तो उसने सारी घटना मां को बताई.

ये भी पढ़ें- हरियाणा में कोचिंग से वापस घर आ रही थी CBSE टॉपर, लिफ्ट देने के बहाने गांव के लड़कों ने किया गैंगरेप

पुलिस की गिरफ्त में दोनों आरोपी
जानकारी के मुताबिक,मां की शिकायत पर पुलिस ने दोनों आरोपी राजू पंडित और बटोली प्रजापति को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने दोनों के खिलाफ सेक्शन 376 और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है. वहीं, बच्ची का इलाज जिला अस्पताल में हो रहा है, जिसके बाद उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है. बच्ची के पिता किसान बताए जा रहे हैं, जो खेती करके अपना पेट पालते हैं. 

कई मासूमों को बनाया होगा शिकार?
एक मासूम के साथ जिले में हुई इस घटना के बाद पुलिस को शक है कि पुजारियों ने पहले भी कई मासूमों को अपना शिकार बनाया होगा. जिले के एसपी मयंक अवस्थी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि स्थानीय लोगों से पूछताछ में यह बात सामने आई है कि यह पुजारी पहले भी कई बार इस तरह की हरकतें कर चुके हैं.