MP: पंचायत भवन में 15 दिनों तक बंद रखी गई 20 गायों ने भूख-प्यास से तोड़ दिया दम

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि कुषाभउ ठाकरे पंचायत भवन में करीब 20 गायों को 15 दिन से बाउंड्री बाउल के अंदर ताला बंद कर रखा गया था. भूस प्यास की वजह से एक-एक कर सभी 20 गायों की मौत हो गई. 

MP: पंचायत भवन में 15 दिनों तक बंद रखी गई 20 गायों ने भूख-प्यास से तोड़ दिया दम
20 गायों ने भूख प्यास से तोड़ा दम

दीपक अग्रवाल/शिवपुरी:  मध्य प्रदेश के शिवपुरी के छितीपुर में 20 गायों की मौत का मामला सामने आया है. ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि कुषाभउ ठाकरे पंचायत भवन में करीब 20 गायों को 15 दिन से बाउंड्री बाउल के अंदर ताला बंद कर रखा गया था. भूख प्यास की वजह से एक-एक कर सभी 20 गायों की मौत हो गई. इसके लिए ग्रामीणों ने सरंपच और सचिव को जिम्मेदार ठहराया है.

पंचायत भवन में बंद 20 गायों की मौत
ग्रामीणों का आरोप है कि दिनारा थाना क्षेत्र के ग्राम छितीपुर में कुषाभउ ठाकरे पंचायत भवन में 15 दिन पहले 20 गायों को बंद किया गया था. गायों को चारे-पानी की कोई व्यवस्था नहीं की गई. करीब दस से पंद्रह दिनों में गायों की भूख-प्यास से एक-एक करके मौत होती चली गई. ग्रामीणों का कहना है कि पंचायत भवन के ताले की चाबी सरपंच और सचिव के पास रहती है, उन्होंने ताला खोलकर गायों को बाहर नहीं निकाला, इसीलिए 20 गायों की मौत के जिम्मेदार सरपंच और सचिव हैं. बताया जा रहा है कि यह आवारा गौवंश किसानों की फसल नष्ट कर रहे थे इसलिए इन्हें बंद किया गया था.

गौशाला का नहीं हुआ निर्माण
आपको बता दें कि 8 किमी दूर थनरा ग्राम पंचायत में गौशाला मंजूर हुई है. 25 सितंबर को कांग्रेस विधायक जसमंत जाटव ने गौशाला का भूमिपूजन किया था. लेकिन पांच महीने में भी गौशाला का काम पूरा नहीं किया गया. ग्रामीणों का कहना है कि अगर गौशाला बन जाती तो, 20 गायों की जान बचाई जा सकती थी.

वहीं ग्रामीणों ने गायों की मौत की शिकायत पशुपालन विभाग और पुलिस से की है. जिसके बाद अधिकारी मामले की जांच में जुट गए हैं.