भागलपुर: 6200 बच्चे बने 'महात्मा गांधी', अनोखे अंदाज में दिया शांति का संदेश

बच्चों के इस प्रयास से भागलपुर का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो गया है. "मन में बापू" कार्यक्रम के मुख्य संरक्षक केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे थे.  

भागलपुर: 6200 बच्चे बने 'महात्मा गांधी', अनोखे अंदाज में दिया शांति का संदेश

नई दिल्ली: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में भागलपुर में 6200 स्कूली बच्चों ने महात्मा गांधी की वेशभूषा धारण कर शांति, सद्भाव और स्वच्छता का संदेश दिया. बच्चों के इस प्रयास से भागलपुर का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो गया है. "मन में बापू" कार्यक्रम के मुख्य संरक्षक केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे थे.  

इस कार्यक्रम का संयोजन अर्जित चौबे ने किया था. उन्होंने बताया कि विश्व की विशालतम मानव रचित गांधीजी के पीस जेस्चर को बनाकर एक विश्व रिकॉर्ड कायम किया गया. उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर लगभग 32 स्कूलों के 6200 छात्रों ने कार्यक्रम में भाग लिया. इसके साथ ही 900 स्कूली बच्चियों ने भी भाग लेकर मुहिम में अपनी भागीदारी निभाई. कार्यक्रम में 700 कार्यकर्ताओं ने भी हिस्सा लेकर कार्यक्रम को सफल बनाया.

अर्जित ने बताया कि बापू के रूप में एक साथ हज़ारों बच्चों को देखना बड़ा मनमोहक लग रहा था. नन्हें बच्चे एक साथ पारंपरिक धोती में अनुपम छटा बिखेर रहे थे. ग्राउंड में आने पर उन्हें हेड मास्क, गांधी टोपी और डंडा प्रदान किया गया ताकि वे गांधी जी की तरह दिखें.

सभी स्कूल 8 से 9 बजे के बीच अपने स्कूलों के बस एवम् अन्य वाहनों से सैंडीस मैदान पहुंचे जिसके बाद उन्हें 1 घंटे तक व्यवस्थित कर 50-50 के ग्रुप में बांटा गया. कुल मिलाकर 124 ग्रुप बनाए गए जिसमें प्रत्येक ग्रुप में 2-2 कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी गई थी. 100 कार्यकर्ता गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के अरिना में बच्चों को व्यवस्थित करने में लगाए गए थे. 100 कार्यकर्ताओं को प्रत्येक लाइन को मेन अरीना में लगाने की जिम्मेदारी दी गई. सुरक्षा और वाहन व्यवस्था में 100 कार्यकर्ता लगाए गए थे. साथ ही भोजन व्यवस्था में 100 कार्यकर्ता और मंच व्यवस्था में 50 कार्यकर्ता सजक होकर कार्य कर रहे थे. इतनी व्यापक व्यवस्था के साथ पहली बार 'यस वी कैन डू' की टीम ने भरपूर मेहनत के उपरांत विश्व रिकॉर्ड कायम किया.