close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेश का 64वां स्थापना दिवस आज, प्रदेशवासियों को कई बड़ी सौगातें दे सकते हैं CM कमलनाथ

स्थापना दिवस के मौके पर भोपाल में मुख्य कार्यक्रम होगा, जिसमें सीएम कमलनाथ भी शामिल होंगे. प्रदेश में स्थापना दिवस का जश्न 3 दिनों तक मनाया जाएगा. मंत्रालय के वल्लभ पार्क में राज्योत्सव की शुरुआत होगी.

मध्य प्रदेश का 64वां स्थापना दिवस आज, प्रदेशवासियों को कई बड़ी सौगातें दे सकते हैं CM कमलनाथ
(फाइल फोटो)

भोपालः आज मध्यप्रदेश का स्थापना दिवस है. 64वें स्थापना दिवस को लेकर तैयारियां पूरी हो गई है. स्थापना दिवस के मौके पर भोपाल में मुख्य कार्यक्रम होगा, जिसमें सीएम कमलनाथ भी शामिल होंगे. प्रदेश में स्थापना दिवस का जश्न 3 दिनों तक मनाया जाएगा. मंत्रालय के वल्लभ पार्क में राज्योत्सव की शुरुआत होगी. जिसमें सीएम कमलनाथ मध्य प्रदेश के विकास की शपथ दिलाएंगे और प्रदेश की जनता को संबोधित करेंगे. इस कार्यक्रम में प्रदेश के लिए विशेष योगदान देने वाले लोगों को सम्मानित भी किया जाएगा. इस दौरान मुख्यमंत्री कमल नाथ कई सौगात दे सकते हैं.

सीएम कमल नाथ खुशहाल नौनिहाल योजना की घोषणा कर सकते हैं. पुजारियों का वेतन बढ़ाने और मंदिरों के पट्टे देने की घोषणा कर सकते हैं. वहीं सरकारी स्कूलों में पढ़ाई की व्यवस्था सुधारने के लिए शिक्षकों की ई अटेंडेंस को भी अनिवार्य किया जा सकता है. देशी नस्ल के पशुओं को बढ़ावा देने की योजना की घोषणा, सामाजिक सुरक्षा पेंशन में बदलाव की घोषणा और पुलिसकर्मियों को ग्रेड पे की घोषणा कर सकते हैं.

देखें LIVE TV

शाम साढ़े 6 बजे लाल परेड ग्राउंड में रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन होगा. जिसमें संगीतकार और गायक अमित त्रिवेदी परफॉर्मेंस देंगे. दिल्ली के गुलाम साबिर, निजामी बन्धु सूफी कव्वालियां पेश करेंगे. इस दौरान सीएम कमलनाथ मौजूद रहेंगे. मंच को मुंबई और भोपाल के कलाकारों ने तैयार किया है. करीब 150 कलाकारों मंच को तैयार किया है. यह मंडला जिले के रामपुरा के गोंड महल की कलाकृति पर आधारित है.

MP में तेज हुई विधान परिषद के गठन की तैयारी, मुख्य सचिव मोहंती ने की बैठक

आज गोंड जनजाति के सैला नृत्य और गुदुमबाजा के साथ कलाकार मंच पर समा बांधेंगे. लोक कलाकार पारंपरिक नृत्य को मप्र उत्‍सव के जरिए लोगों के बीच लेकर जाएंगे. इसके अलावा 2 और 3 नवंबर की शाम रविंद्र भवन में कई सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे. सरकार के अलग अलग मंत्री अलग अलग जिलों में होने वाले कार्यक्रमों में शामिल होंगे.