close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भाई पुलिस के साथ, बहन नक्सली संगठन में, दोनों आए आमने-सामने; चल रही थीं गोलियां

ऐसा नहीं है कि वेट्टी रामा ने बहन को मुख्यधारा से जोड़ने की कोशिश नहीं की. बार-बार पत्र लिखे लेकिन उसकी बहन ने दुबारा पत्र न भेजने की बात कही और नक्सल संगठन में काम करने की इच्छा जताई.

भाई पुलिस के साथ, बहन नक्सली संगठन में, दोनों आए आमने-सामने; चल रही थीं गोलियां
वेट्टी रामा भी नक्सली संगठन में काम कर चुका है.

रायपुर: यह कहानी कभी नक्सली कमांडर रहे वेट्टी रामा की है जो इन दिनों पुलिस के साथ काम रहा रहा है. उसकी बड़ी बहन वेट्टी कन्नी नक्सली संगठन में काम कर रही है. बीते दिनों एक मुठभेड़ में दोनो आमने-सामने हो गए थे. वेट्टी रामा पुलिस के साथ और उसकी बहन नक्सलियों के साथ थी. दोनो का आमना-सामना हुआ लेकिन इस बीच दोनो ओर से फायरिंग होनी शुरू हो गई. अंधाधुध फायरिंग के बीच नक्सली वहां से भाग गए. 

ऐसा नहीं है कि वेट्टी रामा ने बहन को मुख्यधारा से जोड़ने की कोशिश नहीं की. बार-बार पत्र लिखे लेकिन उसकी बहन ने दुबारा पत्र न भेजने की बात कही और नक्सल संगठन में काम करने की इच्छा जताई. वेट्टी रामा भी नक्सली संगठन में काम कर चुका है. 13 अक्टूबर 2018 को हथियार के साथ रामा ने पुलिस के समक्ष सरेंडर कर मुख्यधारा से जुड़कर काम करने की इच्छा जताई. उसके बाद से वो पुलिस के लिए काम कर रहा है. 

रामा पिछले 23 सालों से नक्सली संगठन में सक्रिय था और कोंटा इलाके में नक्सली संगठन को मजबूत करने और घटनाओं को अंजाम देने का काम रह रहा था. रामा के उपर करीब 24 नामजद अपराध विभिन्न थानों मे कायम है. शासन के द्वारा आठ लाख का इनाम घोषित किया गया लेकिन मुख्यधारा से जुड़ने के लिए रामा ने 13 अक्टूबर 2018 को पुलिस के समक्ष हथियार डाल दिए थे. अब तक सबसे बड़ा नक्सली लीडर था जिसने सरेंडर किया था. उसके बाद रामा पुलिस के लिए काम करना शुरू कर दिया. वो गाईड के रूप में पुलिस आपरेशन कराने लगा. पुलिस को कई बड़ी सफलताए भी दिलाई.  

वेट्टी कन्नी जो वेट्टी रामा की बड़ी बहन है. वो भी पिछले कई सालों से नक्सली संगठन मे काम रही है. दोनो भाई-बहन साथ मे काम करते थे. दोनों गगनपल्ली के रहने वाले है. और दोनों ने लगभग साथ में ही नक्सल संगठन मे काम करना शुरू कर दिया था. वर्तमान कन्नी अच्छे पद पर काम कर रही है. 

पिछले 29 जुलाई को सुरक्षाबल के साथ वेट्टी रामा एक ऑपरेशन के लिए गया. नक्सली इलाका बालकातोंग पहुंच तो अचानक सामने नक्सली दिखाई दिए. वेट्टी रामा आगे चल रहा था. सामने उसको उसकी बहन वेट्टी कन्नी दिखाई दी. करीब 200 मीटर दूर से रामा ने पहचान लिया. कुछ बोल पाते कि उस बीच दोनों ओर से फायरिंग होनी शुरू हो गई. और देखते ही देखते बहन आंखों के सामने गायब हो गई. ऑपरेशन के बाद वो लगातार पता लगा रहे है कि बहन किस स्थिति में है.