close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आकाश विजयवर्गीय ने कमलनाथ सरकार के मंत्री पर लगाया आरोप, कहा- सांठगांठ से चल रहा खेल

किरायेदार की ओर से हाईकोर्ट में पैरवी भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के वकील रहे पुष्यमित्र भार्गव करने जा रहे है. 

आकाश विजयवर्गीय ने कमलनाथ सरकार के मंत्री पर लगाया आरोप, कहा- सांठगांठ से चल रहा खेल
आकाश विजयवर्गीय ने अपनी फेसबुक पोस्ट के जरिये मंगलवार को मय दस्तावेजों के पूरे खेल का खुलासा करने का दावा किया है.

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर के जर्जर मकान को तोड़े जाने के दौरान निगम कर्मचारी से मारपीट के आरोप में जेल की हवा खा चुके आकाश विजयवर्गीय ने पलटवार किया है. आकाश विजयवर्गीय ने अपने आरोपों को लेकर सूबे के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा को सीबीआई जांच का चैलेंज देते हुए वर्मा के रिश्तेदारों और निगम कर्मचारियों की सांठ-गांठ का खुलासा करने का दावा किया है. वहीं, दूसरी ओर किरायेदार ने मकान न तोड़े जाने को लेकर इंदौर हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है. जिस पर मंगलवार को सुनवाई होनी है. 

हाईकोर्ट की शरण में किरायेदार
इंदौर के जिस मकान को तोड़े जाने को लेकर बवाल हुआ था. उसे इंदौर नगर निगम का अमला मंगलवार को तोड़ने वाला था, लेकिन मकान के किरायेदार ने इंदौर हाईकोर्ट में कार्रवाई पर रोक के लिये याचिका दायर की है. मामले की सुनवाई मंगलवार (2 जुलाई) को होनी है. खास बात यह है कि किरायेदार की ओर से पैरवी भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के वकील रहे पुष्यमित्र भार्गव करने जा रहे है. 

सांठगांठ के खुलासे का दावा 
निगम कर्मचारी की क्रिकेट बैट से पिटाई के बाद 4 दिनों तक जेल में रहे विधायक आकाश विजयवर्गीय ने बल्ले से तो तौबा कर ली, लेकिन वे इतनी आसानी से मामले को अपने हाथों से जाने नही देना चाहते. आकाश विजयवर्गीय ने अपनी फेसबुक पोस्ट में इंदौर में मकान गिराए जाने में सांठगांठ का खुलासा करने का दावा किया है. आकाश का आरोप है कि मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के रिश्तेदार निगम कर्मचारियों से सांठगांठ कर मकानों को गिराने का काम कर रहे हैं. 

आकाश विजयवर्गीय ने मामले की सीबीआई जांच तक किये जाने की मांग कर दी है. यहां तक मामला साबित होने पर राजनीति से संन्यास लेने तक का दावा कर चुके है. आकाश विजयवर्गीय ने अपनी फेसबुक पोस्ट के जरिये मंगलवार को मय दस्तावेजों के पूरे खेल का खुलासा करने का दावा किया है.  

दोनों कच्चे खिलाड़ी हैं- कैलाश विजयवर्गीय
इंदौर पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और विधायक आकाश विजयवर्गीय के पिता कैलाश विजयवर्गीय ने पूरे मामले को लेकर सोमवार को पहली बार बयान दिया. कैलाश विजयवर्गीय का कहना है कि दोनों ही कच्चे खिलाड़ी हैं. दोनों को सीखने की जरूरत है. निगम कर्मचारियों पर जनप्रतिनिधियों की बात न सुनने का आरोप लगाते हुए कैलाश विजयवर्गीय ने निगम की कार्रवाई को गलत बताया. वहीं, इस मामले में भाजपा जहां आकाश विजयवर्गीय के बचाव में रही तो, कांग्रेस हमलावर. अब देखना यह होगा की इस खेल में विकेट किसका गिरता है.