अमिताभ बच्चन ने अपने एक ट्वीट को लेकर मांगी माफी, महिला बोली- आपसे क्षमा नहीं स्नेह चाहिए

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने हाल ही में अपने ट्विटर अकाउंट पर एक कविता शेयर की थी. इस ट्वीट को लेकर अब उन्होंने एक महिला से माफी मांगी है. पढ़िए पूरी खबर....

अमिताभ बच्चन ने अपने एक ट्वीट को लेकर मांगी माफी, महिला बोली- आपसे क्षमा नहीं स्नेह चाहिए
अभिनेता अमिताभ बच्चन, फाइल फोटो

नीमच: अपने एक ट्वीट को लेकर सदी के महानायक ने नीमच में रहने वाली टीशा अग्रवाल से माफी मांगी है. अमिताभ बच्चन द्वारा माफी मांगने के बाद टीशा ने जो बात लिखी उसकी हर कोई तारीफ कर रहा है. टीशा ने लिखा कि 'आपके बड़प्पन के लिये आपको साधुवाद सर, आपसे क्षमा नहीं, स्नेह चाहिए था. यह आशीर्वाद है आपका जो मेरा गर्व है'. ये पूरा मामला अमिताभ बच्चन के एक ट्वीट से जुड़ा हुआ है.

ये है पूरा मामला
हाल ही में अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर अपनी एक तस्वीर शेयर की थी, जिसमें वह चाय का कप हाथ में लिए दिखाई दे रहे हैं. ट्विटर पर इस तस्वीर के साथ उन्होंने एक सुंदर कविता भी शेयर की थी. इस कविता को अमिताभ बच्चन की वॉल में देखने के बाद टिशा अग्रवाल नाम की एक महिला ने ये दावा किया कि ये कविता उन्होंने लिखी है और इसका क्रेडिट भी उन्हें मिलना चाहिए.

ये भी पढ़ें: पिता के पास 50 साल पहले गिरवी रखी गई जमीन बिना पैसे लिए लौटाई, रजिस्ट्री भी खुद करवाई

क्या लिखा था टीशा ने
टीशा ने लिखा था कि 'सर आपकी वॉल पर मेरी पंक्तियां आना मेरे लिए सौभाग्य है. मेरी खुशी और गर्व दोगुना हो जाता, अगर आपकी वॉल पर मेरा नाम होता. आपके जवाब की आशा में.'

बिग बी ने मांगी माफी
इसके बाद बिग बी ने फिर एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि उन्हें पता नहीं था कि ये कविता टीशा की है. उन्होंने लिखा, 'टीशा जी, मुझे अभी अभी पता चला की एक ट्वीट जो मैंने छापा था वो आपकी कविता थी. मैं क्षमा प्रार्थी हूं मुझे ज्ञान नहीं था इसका ! मुझे किसी ने मेरे ट्विटर या मेरे वाट्सऐप पर ये भेजा , मुझे अच्छा लगा ,और मैंने छाप दिया. माफ़ी चाहता हूं.'

टीशा ने कही दिल छू लेने वाली बात
अमिताभ बच्चन द्वारा माफी मांगने वाले ट्वीट पर कमेंट करते हुए टीशा ने लिखा कि ' आपके बड़प्पन के लिये साधुवाद आपको सर, आपसे क्षमा नहीं स्नेह चाहिए था. यह आशीर्वाद है आपका जो मेरा गर्व है अब. टीशा ने एक पोस्ट में लिखा 'सर आपका बहुत बहुत आभार और ह्रदय से धन्यवाद, आपकी वॉल पर मेरा नाम आना मेरा गर्व, सौभाग्य, खुशी और लेखन का सर्वश्रेष्ठ पारितोषिक है! यह सिर्फ क्रेडिट नहीं आपका स्नेह और मेरा गर्व है. एक बार फिर साबित हुआ. सत्यमेव जयते'.

ये भी पढ़ें:  CBSE बोर्ड परीक्षाओं का ऐलान, इस तारीख से शुरू होंगे एग्जाम

ये भी पढ़ें: भोपालः न्यू ईयर के जश्न पर पुलिस-प्रशासन की कड़ी नजर, रात 12 के बाद सिर्फ 30 मिनट का जश्न

MP LIVE TV