एक साल से बैंक नहीं कर पाया KYC, 15 हजार किसानों को नहीं मिल पा रहा सरकारी पैसा

एक साल पहले इन खाताधारकों से बैंक के निर्देश पर ग्राहक सेवा केन्द्र ने आईडी के नाम पर आधार कार्ड, राशन कार्ड समेत अन्य दस्तावेज जमा कराए थे, ताकि खाते की सही जांच हो सके, लेकिन एक साल से बैंक इन खाताधारकों के दस्तावेजों की जांच नहीं कर पाया है.

एक साल से बैंक नहीं कर पाया KYC, 15 हजार किसानों को नहीं मिल पा रहा सरकारी पैसा
कटनी के SBI ने नहीं किया डेढ़ साल तक डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन

कटनी: शहर के भारतीय स्टेट बैंक के करीब 15 हजार खाताधारक खातों में आने वाली विभिन्न योजनाओं का पैसा नहीं निकाल पा रहे है. बैंक ने केवाईसी के नाम पर विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत आने वाले हितग्राहियों के खाते होल्ड कर दिए हैं.

बता दें कि खाताधारकों से बैंक ने आधार कार्ड, राशन कार्ड समेत विभिन्न दस्तावेज जमा करने के लिए पहले कहा था, जिसके बाद सभी खाताधारकों ने दस्तावेज भी जमा कर दिए. एक वर्ष बीतने के बाद भी इन दस्तावेजों की बैंक प्रबंधन जांच नहीं कर पा रहा है. ऐसे में जीरो बैलेंस पर खाता खुलवाने वाले खाताधारक विभिन्न योजनाओं के उनके खाते में आने वाली राशि नहीं निकाल पा रहे है. इन खाताधारकों की संख्या हजारों में है. 

 मध्य प्रदेश में 25 हजार बेरोजगारों को रोजगार देने के लिए सीएम शिवराज ने खोले द्वार
हजारों की संख्या में हैं खाताधारक

बुधवार को जिला पंचायत सदस्य की अगुवानी में सैकड़ों खाताधारक जिला प्रबंधक के पास फरियाद लेकर पहुंचे. विकासखंड के अंतर्गत आने वाले विभिन्न ग्राम पंचायतों एवं नगरीय क्षेत्र के तमाम खाता धारकों के बैंक द्वारा ग्राहक सेवा केन्द्र के जरिए खाते खुलवाए गए हैं. नगर में करीब एक दर्जन से ज्यादा ग्राहक सेवा केन्द्र संचालित हो रहे हैं. इन ग्राहक सेवा केन्द्रों में हजारों से अधिक खाताधारक हैं. इनमें से 8 हजार खाताधारक ग्राहक सेवा केन्द्र के व 7000 हजार खाता धारक बैंक के कुल 15000 खाता धारकों के खाते बैंक ने होल्ड किए हैं.

कर्ज माफी पर कृषि मंत्री के खिलाफ FIR दर्ज कराएगी कांग्रेस, जीतू पटवारी बोले- उपचुनाव में चलाएंगे अभियान

एक साल से जांच तक नही हो पायी 
जिलापंचायत सदस्य डॉ ऐ.के. खान ने बताया कि बुजुर्ग पेंशन, छात्रवृत्ति, मजदूरी कार्डधारक हैं जिनका बैंक में जीरो बैलेंस पर खाता ग्राहक सेवा केन्द्र ने खोला है. करीब एक साल पहले इन खाताधारकों से बैंक के निर्देश पर ग्राहक सेवा केन्द्र ने आईडी के नाम पर आधार कार्ड, राशन कार्ड समेत अन्य दस्तावेज जमा कराए थे ताकि खाते की सही जांच हो सके, लेकिन एक साल से बैंक इन खाताधारकों की दस्तावेजों की जांच नही कर पाया है. ऐसी स्थिति में इन खाताधारकों के खाते में लगातार बुजुर्ग पेंशन की राशि, छात्रवृत्ति की राशि व मजदूरी की राशि आ रही है लेकिन इन खाताधारकों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है.

WATCH LIVE TV