close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद CM कमलनाथ ने की जनता से अपील, 'अमन-चैन बनाए रखें'

सुप्रीम कोर्ट का फैसले आने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने सभी दलों के नेताओं और धर्मगुरुओं से अदालत के फैसले का सम्मान और अमन-चैन बनाए रखने की अपील की है.

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद CM कमलनाथ ने की जनता से अपील, 'अमन-चैन बनाए रखें'
मुख्यमंत्री कमलनाथ (फाइल फोटो)
Play

नई दिल्लीः अयोध्या में राम जन्मभूमि (Ram Janmbhoomi) और बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला आ चुका है. सुप्रीम कोर्ट ने सर्वसम्मति मतलब 5-0 से यह फैसला सुनाया है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई (Ranjan Gogoi) के नेतृत्व में पांच जजों की संवैधानिक पीठ ने फैसला सुनाते हुए विवादित जमीन पर रामलला को दी है. सुप्रीम कोर्ट का फैसले आने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने सभी दलों के नेताओं और धर्मगुरुओं से अदालत के फैसले का सम्मान और अमन-चैन बनाए रखने की अपील की है.

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट करते हुए जनता से देश की सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सम्मान करने और देश में शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है. अपने ट्विटर अकाउंट पर उन्होंने लिखा कि, 'अयोध्या मामले पर फैसला आ चुका है. एक बार फिर आपसे अपील करता हुं कि सर्वोच्च न्यायालय के इस फैसले का हम सभी मिलजुलकर सम्मान व आदर करें.
किसी प्रकार के उत्साह ,जश्न व विरोध का हिस्सा ना बने. अफवाहों से सावधान और सजग रहें. किसी भी प्रकार के बहकावे में ना आएं.'

अयोध्‍या फैसले पर बोले PM नरेंद्र मोदी- ये वक्‍त 'भारतभक्ति' की भावना को सशक्त करने का है

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि, 'आपसी भाईचारा , संयम , अमन-चैन ,शांति , सद्भाव व सोहाद्र बनाये रखने में पूर्ण सहयोग प्रदान करें. सरकार प्रदेश के हर नागरिक के साथ खड़ी है. कानून व्यवस्था और अमन-चैन से खिलवाड़ करने वाले किसी भी तत्व को बख्शा नहीं जाएगा. पूरे प्रदेश में पुलिस प्रशासन को ऐसे तत्वों पर सख़्ती से कार्यवाही के निर्देश पूर्व से ही दिये जा चुके हैं. यह प्रदेश हमारा है, हम सभी का है, कुछ भी हो, हमारा प्रेम, हमारी मोहब्बत, हमारा भाईचारा, हमारा आपसी सोहाद्र खराब ना हो, यह हम सभी की जिम्मेदारी है.'